फोटो गैलरी

Hindi News लाइफस्टाइल हेल्थआंसू बहाना भी सेहत के लिए है फायदेमंद, रोकर पा सकते हैं इतने सारे फायदे

आंसू बहाना भी सेहत के लिए है फायदेमंद, रोकर पा सकते हैं इतने सारे फायदे

Benefits Of Crying: बड़ी से बड़ी तकलीफ होने पर भी आंसू बहाने से बचते हैं तो जान लें खुलकर रोने से सेहत को कई सारे फायदे होते हैं। मेंटल हेल्थ से लेकर फिजिकल हेल्थ पर पड़ता है पॉजिटिव असर।

आंसू बहाना भी सेहत के लिए है फायदेमंद, रोकर पा सकते हैं इतने सारे फायदे
Aparajitaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 15 Feb 2024 11:43 AM
ऐप पर पढ़ें

बच्चे जब रोते हैं तो हर कोई उनकी फिक्र करने लगता है। लेकिन जैसे-जैसे बच्चे बड़े होते जाते हैं। उन्हें ना आंसू ना बहाने की नसीहत दी जाती है। खासतौर पर लड़कों को सिखाया जाता है कि रोना कमजोर होने की निशानी है। लेकिन अगर आप खुलकर आंसू नहीं बहाते तो सेहत को नुकसान पहुंच सकता है। कई सारी रिसर्च में पता चल चुका है कि रोना सेहत के लिए फायदेमंद है। अगर आप खुलकर आंसू बहाते हैं तो इससे मेंटल से लेकर फिजिकल हेल्थ पर पॉजिटिव असर पड़ता है। 

रोने के होते हैं कई सारे फायदे
दिमाग को मिलती है शांति
रोने से इमोशन को कंट्रोल करने में मदद मिलती है और मानसिक रूप से शांति मिलती है। यहीं नहीं अगर आप रो लेते हैं तो स्ट्रेस भी कम होता है। मेडिकल न्यूज टुडे में छपी रिपोर्ट के मुताबिक रोने से डायरेक्ट दिमाग शांत होता है। स्टडी के मुताबिक रोने से पैरासिम्पैथेटिक नर्व्स सिस्टम एक्टीविेट होता है। जिससे रिलैक्स होने में मदद मिलती है। 

दर्द में राहत
इमोशनल होने पर निकलने वाले आंसू शरीर में ऑक्सीटोसिन और एंडोर्फिन हार्मोंस को रिलीज करते हैं। ये हार्मोंस अच्छा महसूस कराने और इमोशनल दर्द से राहत पहुंचाने में मदद करते हैं। रोने से दर्द कम होता है और बेहतर महसूस होता है। बच्चे जरा सी चोट लगने पर भी रोने लगते हैं। तभी वो जल्दी ही बेहतर महसूस करते हैं। 

मूड सही होता है
अगर आप बुरा लगने पर रोते हैं तो इससे मूड को जल्दी सही होने में मदद मिलती है। साथ ही ऑक्सीटोसिन और एंडोर्फिन हार्मोंस दर्द को कम करते हैं।

स्ट्रेस दूर होता है
ज्यादा स्ट्रेस महसूस होने पर अगर इंसान रोता है तो स्ट्रेस हार्मोंस और दूसरे केमिकल्स कम होते हैं। जिससे स्ट्रेस का लेवल कम होता है।

बैक्टीरिया मरते हैं
अगर आप आंसू बहाते हैं तो इससे आंखों में मौजूद हार्मफुल बैक्टीरिया को क्लीन होने में मदद मिलती है। आंसूओं में लिसोजाइम नाम का फ्लूएड होता है। 2011 में हुई स्टडी के मुताबिक लिसोजाइम पावरफुल एंटीमाइक्रोबियल प्रॉपर्टी लिए होता है जो आंखों को बैक्टीरिया से बचाता है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें