फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News लाइफस्टाइल हेल्थNavratri Diet Plan: नवरात्रि के व्रत में दिनभर एनर्जेटिक रहने के लिए खाएं ये चीजें, नहीं होगी कमजोरी

Navratri Diet Plan: नवरात्रि के व्रत में दिनभर एनर्जेटिक रहने के लिए खाएं ये चीजें, नहीं होगी कमजोरी

व्रत चाहें कोई भी हो, अगर सही खानपान ना रखा जाए तो कमजोरी महसूस होने लगती है। नवरात्रि व्रत चल रहे हैं और इस दौरान आप पूरे 9 दिन व्रत रख रहे हैं तो यहां देखिए कि एनर्जेटिक रहने के लिए क्या खाएं।

Navratri Diet Plan: नवरात्रि के व्रत में दिनभर एनर्जेटिक रहने के लिए खाएं ये चीजें, नहीं होगी कमजोरी
Avantika Jainलाइव हिंदुस्तान,नई दिल्लीThu, 23 Mar 2023 08:09 AM
ऐप पर पढ़ें

9 दिनों तक चलने वाले नवरात्रि के त्योहार में देवी के 9 अलग-अलग रूपों की पूजा की की जाती है। कई लोग नौ दिनों तक व्रत रखते हैं। व्रत के दौरान समय-समय पर भूख लगती रहती है। कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जिन्हें व्रत रखने के कुछ देर बाद ही कमजोरी महसूस करने लगते हैं। इस परेशानी से बचने के लिए आपको सही खीनपान चाहिए होगा। यहां कुछ चीजें बता रहे हैं जिन्हें व्रत में खान पर आपको भरपूर एनर्जी मिलेगी।

Navratri Weight Loss: 9 दिनों में कम होगा लटकता पेट और वजन, बस फॉलो करें ये डायट प्लान

नारियल पानी- सेहत के लिए नारियल पानी काफी ज्यादा फायदेमंद होता है। इससे शरीर में पानी की कमी नहीं होती है, साथ ही इसमें कई पोष्टिक तत्व होते हैं जो हेल्थ को अलग-अलग तरह से फायदा देते हैँ।

साबूदाना- व्रत में आपको नियमित दिनों की तुलना में ज्यादा भूख लग सकती है। ऐसा इसलिए है क्योंकि तरह-तरह की चीजें खाने के बावजूद आपकी थाली से गेहूं और चावल नहीं होता हैं। साबूदाना एक हाई कैलोरी, कार्बोहाइड्रेट युक्त फूड है, जो व्रत के दौरान शरीर को एनर्जी देता है। 

मेवा-नट्स एंटीऑक्सीडेंट से भरे होते हैं। ये पौष्टिक होने के साथी ही  स्वादिष्ट हैं। अगर बहुत तेज भूख लगे और लो एनर्जी महसीस कर रहे हैं  तो आप कुछ मेवे जैसे बादाम, मूंगफली आदि खा सकते हैं। 

जूस- व्रत में शरीर को पूरे दिन हाइड्रेटेड रहने की जरूरत होती है। इसके लिए लोग शरीर की लिक्विड जरूरतों और पोषण संबंधी जरूरतों को पूरा करने के लिए मौसमी फलों का जूस पीना एक अच्छा ऑप्शन है। 

Chaitra Navratri 2023: व्रत में हो सकती है एसिडिटी और कब्ज की समस्या, इन टिप्स से करें बचाव