फोटो गैलरी

Hindi News लाइफस्टाइल हेल्थएंग्जाइटी लेवल बढ़ाती हैं रोजमर्रा की ये 5 चीजें, कंट्रोल करने के लिए फॉलो करें ये टिप्स

एंग्जाइटी लेवल बढ़ाती हैं रोजमर्रा की ये 5 चीजें, कंट्रोल करने के लिए फॉलो करें ये टिप्स

Causes Of Anxiety: सामान्यता एंग्जाइटी का कोई एक सटीक कारण नहीं होता है। बावजूद इसके यह समस्या कई तरह के शारीरिक और बाहरी कारणों की वजह से शुरू हो सकती है। आइए जानते हैं उन 5 कारणों के बारे में।

एंग्जाइटी लेवल बढ़ाती हैं रोजमर्रा की ये 5 चीजें, कंट्रोल करने के लिए फॉलो करें ये टिप्स
Manju Mamgainलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीThu, 15 Feb 2024 01:43 PM
ऐप पर पढ़ें

Causes Of Anxiety: एंग्जाइटी एक तरह की मानसिक स्थिति है, जिससे परेशान व्यक्ति को पैनिक अटैक,डर,तनाव जैसी स्थितियों का सामना करना पड़ता है। बता दें, सामान्यता एंग्जाइटी का कोई एक सटीक कारण नहीं होता है। बावजूद इसके यह समस्या कई तरह के शारीरिक और बाहरी कारणों की वजह से शुरू हो सकती है। आइए जानते हैं उन 5 कारणों के बारे में जो आपकी एंग्जाइटी को कर सकते हैं ट्रिगर।

एंग्जाइटी ट्रिगर कर सकते हैं ये कारण-
नकारात्मक सोच-

आपने खुद भी अपने आसपास यह महसूस किया होगा कि नकारात्मक सोच रखने वाले लोग जल्दी चिंता या एंग्जाइटी के शिकार होने लगते हैं। दरअसल, नकारात्मक सोच की वजह से व्यक्ति के दिमाग पर बुरा असर पड़ता है, जिसकी वजह से एंग्जाइटी ट्रिगर हो सकती है।

सोडा ड्रिंक-
लोग अक्सर सोडा ड्रिंक को अपना स्‍ट्रेस दूर करने के लिए पीते हैं। लेकिन सोडा असल में व्यक्ति के स्‍ट्रेस,एंग्जाइटी को बढ़ाने का काम करता है। यह आपकी मेंटल हेल्थ को खराब करके एंगजाइटी को ट्रिगर करने का काम करता है।  

भोजन स्किप करना-
समय पर भोजन न करने या मील स्किप करने से भी व्यक्ति की मानसिक सेहत पर बुरा असर पड़ने लगता है। जिससे व्यक्ति की एंग्जाइटी ट्रिगर हो सकती है।

सफेद ब्रेड-
अगर आप भी उन लोगों में शामिल हैं जो सुबह ब्रेकफास्‍ट में सफेद ब्रेड से बना टोस्‍ट खाना पसंद करते हैं तो अपनी गलती सुधार लें। सफेद ब्रेड आपके स्‍ट्रेस और एंग्जाइटी लेवल को बढ़ाने का काम करती है। मल्‍टी ग्रेन ब्रेड से बने टोस्ट आप अपने नाश्ते में खा सकते हैं। 

दवाएं-
कई बार अच्छे खानपान और सकारात्मक सोच रखने के बावजूद व्यक्ति एंग्जाइटी का शिकार होने लगता है। जिसके पीछे रोजाना ली जाने वाली कुछ दवाएं जिम्मेदार हो सकती हैं। ऐसे में एंग्जाइटी से बचने के लिए डॉक्टर हमेशा बिना डॉक्टर की सलाह के कोई भी दवा ना लेने की सलाह देते हैं। 

एंग्जाइटी कंट्रोल करने के टिप्स- 
एंग्जाइटी कंट्रोल करने के लिए व्यक्ति को योग और मेडिटेशन का सहारा ललेना चाहिए। इसके अलावा व्यक्ति हेल्दी और पौष्टिक भोजन को अपनी डाइट का हिस्सा बनाकर भी मानसिक समस्याओं से दूर रह सकता है। इन उपायों को अपनाने के बावजूद अगर एंग्जाइटी बढ़ जाती है या कंट्रोल नहीं होती तो बिना देर किए एक्सपर्ट डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें