फोटो गैलरी

Hindi News लाइफस्टाइल हेल्थDates In Pregnancy: खजूर खाने से डिलीवरी हो जाती है आसान, जानें प्रेग्नेंसी में खाने के फायदे

Dates In Pregnancy: खजूर खाने से डिलीवरी हो जाती है आसान, जानें प्रेग्नेंसी में खाने के फायदे

Dates In Pregnancy: प्रेग्नेंसी में मीठा खाने का मन हो, तो खजूर खाएं। खासतौर से गर्भवती महिलाओं के लिए खजूर बहुत फायदेमंद है। जानें इस ड्राई फ्रूट्स को खाने के फायदे बता रही हैं शमीम खान।

Dates In Pregnancy: खजूर खाने से डिलीवरी हो जाती है आसान, जानें प्रेग्नेंसी में खाने के फायदे
Aparajitaहिंदुस्तान,नई दिल्लीSat, 25 Nov 2023 01:55 PM
ऐप पर पढ़ें

जब मीठा खाने का मन करे तो खजूर खाना एक स्वस्थ्य विकल्प है। इसका सेवन उन महिलाओं के लिए भी बहुत अच्छा है, जो मां बनने वाली हैं। 2011 में यूएस नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसीन में प्रकाशित एक अध्ययन में कहा गया है कि जो महिलाएं गर्भावस्था के दौरान खजूर खाती हैं, प्रसव के दौरान उन्हें कम परेशानियों का सामना करना पड़ता है। खजूर में शुगर अच्छी मात्रा में होती है, पर साथ ही इसमें पोटैशियम, मैग्नेशियम, कॉपर,फ्लैवनॉइड्स, कैरोटिनाइड्स और फेनोलिक एसिड जैसे पोषक तत्व भी प्रचुर मात्रा में होते हैं। इन पोषक तत्वों की मौजूदगी खजूर को सेहत के लिए गुणकारी बनाती है। खजूर खाने के कई स्वास्थ्य लाभ हैं।

तुरंत मिलेगी ऊर्जा
गर्भवती महिलाएं अकसर थका हुआ और कमजोर महसूस करती हैं। ऐसा इसलिए होता है कि गर्भावस्था के दौरान कार्डियोवॉस्क्युलर सिस्टम और किडनियों पर दबाव 40 प्रतिशत तक बढ़ जाता है। वजन बढ़ने और लम्बर स्पाइन पर दबाव बढ़ने से गर्भवती महिलाओं को थकान अधिक होती है। ऐसे में खजूर खाने से उन्हें तुरंत उर्जा मिल जाती है।

कब्ज से राहत
खजूर में फाइबर की मात्रा बहुत अधिक होती है, जिससे कब्ज में आराम मिलता है। गर्भावस्था के दौरान महिलाओं की शारीरिक सक्रियता कम हो जाती है, प्रोजेस्ट्रॉन का स्तर बढ़ जाता है, खानपान की आदतों में बदलाव आ जाता है, जिसका प्रभाव उनकी पाचन प्रक्रिया पर पड़ता है। ऐसे में खजूर का सेवन करना अच्छा रहता है।

एनीमिया से बचाव
गर्भावस्था के दौरान एनीमिया की समस्या बहुत आम है। खजूर में आयरन अच्छी मात्रा में होता है। इसका सेवन आयरन की कमी से होने वाले एनीमिया को रोक सकता है या ठीक कर सकता है। 

सामान्य प्रसव की ज्यादा संभावना 
खजूर में कुछ तत्व होते हैं, जिनका प्रभाव ऑक्सीटोसिन हार्मोन की तरह होता है। इसके कारण न केवल प्रसव पीड़ा कम होती है बल्कि दर्द को सहने करने की क्षमता भी बढ़ती है। खजूर का सेवन सामान्य प्रसव में सहायता करता है। 
 
हड्डियों की बेहतर सेहत
खजूर में सेलेनियम, मैग्नेशियम और मैग्नीज जैसे माइक्रोन्यूट्रिएंट्स होते हैं। इनसे हड्डियों के स्वास्थ्य में सुधार आता है। ऑस्टियोपोरोसिस का खतरा कम होता है। ऑस्टियोपोरोसिस हड्डियों की कमजोरी से संबंधित बीमारी है, जिसकी शिकार महिलाएं अधिक होती हैं।

अत्यधिक खजूर खाने से बचें
यह सही है कि गर्भावस्था के दौरान खजूर खाने से सामान्य प्रसव होने की संभावना बढ़ जाती है। लेकिन अधिक मात्रा में खजूर खाने के कई नुकसान भी हैं:
• अधिक मात्रा में खजूर खाने से वजन बढ़ता है क्योंकि उसमें कौलोरी की मात्रा अधिक होती है। एक खजूर में 23 कैलोरी होती है और 100 ग्राम में लगभग 280 कैलोरी।
• इससे रक्त में शुगर का स्तर बढ़ जाता है। डायबिटीज से पीड़ित महिलाओं को इसका सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि फिर शुगर को नियंत्रित कर पाना मुश्किल हो जाता है। 
• अधिक मात्रा में खजूर खाने से कब्ज हो जाती है और पेट फूलता है क्योंकि आंतों में बैक्टीरिया विकसित हो जाते हैं।
• खजूर में पोटैशियम काफी मात्रा में होता है, इसकी अधिक मात्रा किडनियों से संबंधित समस्याओं का कारण बन सकती है।
• अगर खजूर खाने के बाद दांत साफ नहीं किए तो वो सड़ने लगते हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें