फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ लाइफस्टाइल हेल्थहार्ट अटैक से मौतों के बीच हर डॉक्टर ने दी एक ही सलाह, आप भी करें फॉलो

हार्ट अटैक से मौतों के बीच हर डॉक्टर ने दी एक ही सलाह, आप भी करें फॉलो

How To Keep Heart Healthy: दिल की धड़कन असमय न रुक जाए इसलिए आपको दिमाग की सुननी होगी। अगर आप पूरे दिन बैठे रहते हैं और रात में सो जाते हैं तो सचेत हो जाएं। यहां जानें कैसे रख सकते हैं हार्ट को हेल्दी

हार्ट अटैक से मौतों के बीच हर डॉक्टर ने दी एक ही सलाह, आप भी करें फॉलो
Kajal Sharmaलाइव हिंदुस्तान,मुंबईWed, 07 Dec 2022 06:33 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

हार्ट अटैक से मौतों का ट्रेंड दिन-ब-दिन डरावना होता जा रहा है। चलते-फिरते जान जाने वाले वीडियोज हर किसी को डरा रहे हैं। इस बीच आम लोग समाधान खोज रहे हैं तो डॉक्टर्स के बीच भी चर्चे शुरू हो गए हैं। ज्यादातर डॉक्टर्स और हार्ट स्पेशलिस्ट सलाह दे रहे हैं कि हमें हर कीमत पर अपनी लाइफस्टाइल सुधारनी होगी। इसमें सबसे जरूरी स्टेप है फिजिकली ऐक्टिव रहना। इसके लिए भी आपको ज्यादा कुछ नहीं करना बस तेज कदमों के साथ टहलना है। डॉक्टर बैलेंस्ड डायट के साथ हफ्ते में कम से कम 5 दिन 45 मिनट ब्रिस्क वॉक करने की सलाह दे रहे हैं। यहां जानें ब्रिस्क वॉक क्या है, इसके फायदे और इसमें लोग क्या क्या गलतियां करते हैं।

डॉक्टर ने दी ब्रिस्क वॉक की सलाह

हार्ट अटैक या सडन कार्डिएक अरेस्ट की खबरें हर किसी को डरा रही हैं। ऐसे में पैनिक करने के बेहतर है समाधान पर बात की जाए। ज्यादातर हेल्थ एक्सपर्ट्स का मानना है कि लोगों की लाइफस्टाइल उनकी अचानक मौतों के लिए जिम्मेदार है। दिल को हेल्दी रखना है तो फिजिकली ऐक्टिव रहना जरूरी है। इसके लिए डॉक्टर्स ब्रिस्क वॉक की सलाह देते हैं। यह आपका वजन कंट्रोल करती है, दिल मजबूत रखती है साथ ही आपका स्ट्रेस भी कम होता है। सबसे पहले जानते हैं कि ब्रिस्क वॉक आखिर है क्या? क्या कोरोना वैक्सीन की वजह से हो रहे हैं हार्ट अटैक? डॉक्टर्स ने बताई वजह और बचाव के तरीके

गिनें प्रति मिनट कदम

ब्रिस्क वॉक में नॉर्मल वॉक से थोड़ा तेज चला जाता है। आसान भाषा में समझें तो एक मिनट में आपको 100 कदम चलने होते हैं। आप साथ में स्टेप काउंटर ऐप का इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे गिनती में आसानी रहेगी। ये ऐप आपको मोबाइल में ही मिल जाएगा। ब्रिस्क वॉक के दौरान चेक करें कि आप बात कर पा रहे हैं या नहीं। अगर आपकी थोड़ी बहुत सांस टूट रही है और आराम से बात कर ले रहे हैं तो आप मॉडरेट लेकिन ब्रिस्क वॉक कर रहे हैं।

न करें ये गलतियां

लोग ब्रिस्क वॉक को नॉर्मल वॉक समझ लेते हैं। ध्यान रखेंगे कि ब्रिस्क वॉक का टारगेट हार्टरेट होता है। अगर आपकी स्पीड जरूरत से कम है तो ज्यादा फायदा नहीं होगा। वहीं अगर आपकी स्पीड बहुत ज्यादा है तो भी दिक्कत हो सकती है। ब्रिस्क वॉक के दौरान आपको फुटवेअर कम्फर्टेबल होने चाहिए। रनिंग शूज ही पहनें। वर्ना पैरों की मसल्स में प्रॉब्लम हो जाएगी।

ब्रिस्क वॉक के फायदे

ब्रिस्क वॉक के अनगिनत फायदे हैं। यह आपका एक्सट्रा वजन कम करती है। आपकी कैलोरी बर्न होती है और लीन मसल्स बढ़ती है। वॉक करने से आपका मूड ठीक रहता है। ब्रिस्क वॉक से आपके दिल की सेहत ठीक रहती है, ब्लड प्रेशर लो होता है साथ ही ब्लड शुगर भी मेनटेन रहती है।

नोट: अगर आपको दिल से जुड़ी या कोई और बीमारी है तो बिना डॉक्टर की सलाह लिए कोई नई एक्सरसाइज शुरू न करें।