फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ लाइफस्टाइल हेल्थDiet For Hormone Imbalance: हार्मोन्स बैलेंस रखने के लिए महिलाएं डाइट में शामिल करें ये 5 चीजें, जानें किन चीजों से करें परहेज

Diet For Hormone Imbalance: हार्मोन्स बैलेंस रखने के लिए महिलाएं डाइट में शामिल करें ये 5 चीजें, जानें किन चीजों से करें परहेज

शरीर में हार्मोन्स के स्तर को ठीक बनाए रखने के लिए व्यक्ति को अपने खान-पान पर विशेष ध्यान देना चाहिए। आइए जानते हैं हार्मोनल इमबैलेंस होने पर डाइट में शामिल करनी चाहिए कौन सी चीजें और किन चीजों से करन

Diet For Hormone Imbalance: हार्मोन्स बैलेंस रखने के लिए महिलाएं डाइट में शामिल करें ये 5 चीजें, जानें किन चीजों से करें परहेज
Manju Mamgainलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीFri, 29 Jul 2022 02:04 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

Natural Ways To Balance Hormones: अनियमित पीरियड्स, पीरियड्स के दौरान गंभीर दर्द, शरीर के अलग-अलग हिस्सों में अनचाहे बाल, कील-मुंहासे, पीसीओएस, थायराइड डिसऑर्डर जैसी समस्याएं शरीर में हार्मोन्स के असंतुलित होने की वजह से पैदा होती हैं। ऐसे में शरीर में हार्मोन्स के स्तर को ठीक बनाए रखने के लिए व्यक्ति को अपने खान-पान पर विशेष ध्यान देना चाहिए। आइए जानते हैं हार्मोनल इमबैलेंस होने पर डाइट में शामिल करनी चाहिए कौन सी चीजें और किन चीजों से करना चाहिए परहेज। 

हार्मोनल इमबैलेंस ठीक करने के लिए डाइट में शामिल करें ये चीज-
अलसी के बीज-

अलसी का बीज ‘फाइटोएस्ट्रोजेन’ का एक बड़ा स्रोत है। इसके अलावा अलसी के बीज में ओमेगा -3 फैटी एसिड, फाइबर और एंटीऑक्सिडेंट भी अच्छी मात्रा में पाया जाता है। ओमेगा-3 और ओमेगा-6 युक्त फैटी एसिड को खाने में शामिल करने से हार्मोन का संतुलन बनाए रखने में मदद मिलती है।

बादाम-
बादाम जैसे नट्स एंडोक्राइन सिस्टम पर प्रभाव डालते हैं, जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करके रक्त शर्करा के स्तर को भी नियमित करने में मदद करते हैं। यह टाइप-2 मधुमेह के जोखिम को भी कम करके शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है। 

चना
ग्रेटेस्ट डॉट कॉम के अनुसार चने में विटामिन बी, विटामिन बी 6, फोलेट जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं जो शरीर में हार्मोन्स के लेवेल को संतुलित करने में सहायक है। चने खाने से बॉडी में सेरोटोनिन और डोपामाइन जैसे हैप्पी हार्मोन्स रिलीज होते हैं।

सेब-
सेब क्वेरसेटिन का एक समृद्ध स्रोत है। यह एक ऐसा एंटीऑक्सिडेंट है जो शरीर में सूजन को कम करता है। यह फल उच्च रक्तचाप से लड़ने में ही नहीं बल्कि कैंसर के खतरे को कम करने और वायरल संक्रमण को भी दूर रखने में मदद करता है। यह वजन घटाने के लिए एकदम सही फल है। यह कैलोरी में कम और फाइबर से भरपूर होने के साथ-साथ पोषण प्रदान करता है।

एवोकाडो-
एवोकाडो का सलाद खाने से हार्मोन के स्तर को संतुलित बनाए रखने में मदद मिलती है। एवोकाडो में बहुत से पौष्टिक तत्व और खनिज मौजूद होते हैं जो उच्च मात्रा में फाइबर प्रदान करते हैं, जिससे शरीर को स्वस्थ रखने के साथ हार्मोन को संतुलित बनाए रखने में मदद मिलती है। 

अश्वगंधा-
अश्वगंधा भी एक प्रभावी जड़ीबूटी है जिसका सेवन रोजाना करने से हार्मोन्स के स्तर को संतुलित करने में मदद मिलता है। यह जड़ीबूटी थायरॉइड की समस्या को ठीक करने में भी सहायता करती है। 

इन चीजों से करें परहेज-
-हार्मोनल इम्बैलेंस के दौरान बैंगन, मिर्च, आलू और टमाटर जैसी कुछ सब्जियों को कम मात्रा में खाने की सलाह दी जाती है। ऐसा इसलिए क्योंकि इससे शरीर में सूजन हो सकती है। 

-रेड मीट हाइड्रोजनीकृत वसा से भरपूर भोजन है इसलिए इसका सेवन करने की भी मनाही होती है। डिब्बा पैक मांस का सेवन करने से भी परहेज करें। अनहेल्दी फेट एस्ट्रोजेन हार्मोन को बढ़ा सकता है और हार्मोनल असंतुलन को और अधिक बिगाड़ सकता है। रेड मीट के बजाय आप अंडे और वसायुक्त मछली लें।

-शोध के अनुसार हार्मोनल इम्बैलेंस के दौरान हरी बीन्स का सेवन करने की सलाह दी जाती है। हरी बीन्स में कैलोरी कम होती है जो वसा को बढ़ने नहीं देती है जिसकी वजह से हार्मोन का संतुलन बना रहता है। 

यह भी पढ़े - एंटी एजिंग प्रोटीन है कोलेजन, जानिए कैसे बढ़ाया जा सकता है इसका प्रोडक्शन

epaper