DA Image
14 दिसंबर, 2020|7:11|IST

अगली स्टोरी

Health Tips: डेंगू होने पर पपीते के पत्ते का रस, बकरी दूध और गिलोय का सेवन फायदेमंद

papaya leaf juice useful in increasing platelets   photo  getty images

आपके किचन में ठंड से होने वाली ज्यादातर बीमारियों का इलाज है। सर्दी, खांसी, बुखार, डेंगू, अस्थमा, सिरदर्द, त्वचा का रूखापन, बलगम जमा होना, जोड़ों का दर्द, बदन दर्द, डायबिटीज थायरायड जैसी बीमारियों का घरेलू उपचार कर कुछ हद तक आराम पाया जा सकता है। अगर इन बीमारियों का प्रकोप बढ़े, तब इन सामाग्रियों और कुछ अन्य विशिष्ट आयुर्वेदिक औषधियों के माध्यम से आयुर्वेद इन बीमारियों को जड़ से खत्म कर सकता है। ऐसा आयुर्वेद के विशेषज्ञ चिकित्सक डॉ मधुरेंद्र पांडेय ने हिन्दुस्तान से खास बातचीत में बताया। हिन्दुस्तान डॉक्टर की सलाह कार्यक्रम में रविवार को वे हिन्दुस्तान के पटना कार्यालय में मॉजूद थे।

उन्होंने कहा कि अस्थमा पीड़ितों, शुगर और हाई बीपी के ग्रसित लोगों को ठंड में सावधानी बरतनी चाहिए। सुबह धूप निकलने से पहले कुहरा रहने और शाम को ठंड बढ़ने पर घरों से बाहर नहीं निकलना चाहिए।

रसोईघर में प्रयुक्त हल्दी, दूध, सरसों का तेल, घी, आजवाइन, काली मिर्च, दालचीनी, बड़ी इलायची, अदरख, आंवला, नींबू, प्याज, लहसुन, मेथी, वीसी, जायफल आदि एक प्रकार की आयुर्वेदिक औषधियां ही हैं। इसके अलावा तुलसी का पत्ता, गिलोय, करी पत्ता, पपीते का पत्ता, नीम का पत्ता जैसी कुछ घरेलू सामग्रियों का प्रयोग कर डेंगू, कोरोना आदि बीमारियों से बचाव में सहायक है।

रोहतास से एक पाठक संजीव सिंह ने सवाल पूछा कि वह चार दिनों से डेंगू बुखार से पीड़ित है। अब काफी कमजोरी है अब उसे क्या करना चाहिए ?

स पर डॉक्टर मधुरेंद्र की सलाह - डेंगू का वायरस किसी इंसान के खून में दो से सात दिनों तक रहता है। खून में प्लेटलेट्स की कमी हो जाती है। पपीते के पत्ते का रस, बकरी का दूध, गिलोय का सेवन फायदेमंद होता है। इससे प्लेटलेट्स बढ़ती हैं। जो कि घास और एलोवेरा का रस भी उपयोगी है। गिलोय घनवटी और गिलोय क्वाथ और ज्वरनाशक वटी औषधियां फायदेमंद हैं। 

वहीं गया से संगीता कुमारी ने पूछा, ठंड में अस्थमा का प्रकोप बढ़ गया है, क्या उपाय है?

सलाह : एक चम्मच मेथी को एक गिलास पानी में तब तक उबालें जबतक पानी एक तिहाई ना हो जाए। इस पानी में शहद और अदरख के रस को मिलाकर रोज सुबह-शाम सेवन करें। मेथी शरीर के भीतरी एलर्जी को नष्ट करने में सहायक होती है। श्वासरि क्वाथ 200 ग्राम और मुलेठी क्वाथ 100 ग्राम को मिला दें। इस मिश्रण के एक चम्मच यानी पांच से सात ग्राम मिलाकर 400 मिली पानी में पकाएं। पानी एक चौथाई होने पर प्रात: खाली पेट और रात के खाने के बाद सेवन करें। सितोपलादी चूर्ण- 25 ग्राम, अभ्रक भस्म-05 ग्राम, प्रवाल पिष्टी- 10 ग्राम, त्रिकूट चूर्ण का मिश्रण कर 60 पुड़िया बना लें। रोज सुबह-शाम शहद के साथ सेवन करें। लक्ष्मी विलास रस -40 ग्राम व संजीवनी बटी-40 ग्राम लें। दोनों में से सुबह, दोपहर व शाम को खाने के बाद एक-एक गोली लें।

सवाल: ठंड में थायराइड के कारण परेशानी बढ़ जाती है। शरीर और चेहरा फूलने लगता है। 

- मानसी मल्लिक खगड़िया से तथा गणेश महतो मुजफ्फरपुर से।

सलाह: थायराइड को दूर करने के लिए अचूक आयुर्वेदिक उपाय हैं। इसमें शिग्रु पत्र, कांचनार, पननैवा के काढ़ों का प्रयोग कर सकते हैं। तीसी अथवा अलसी के एक चम्मच चूर्ण का सेवन, नारियल के तेल का प्रयोग करें। जलकुंभी, अश्वगंधा का पेस्ट गले पर बने गवाटर पर लगाएं। तांबे के बर्तन में एक से दो चम्मच धनिये को रातभर्र ंभगाने के बाद, सुबह इसे मसलकर छानकर पी लें। 

सवाल: पिछले कुछ महीने से मोटापा बढ़ने लगा है। आलस भी लग रहा है। 
-राजीव कुमार औरंगाबाद तथा पटना से सुजाता किरण। 

सलाह: व्यायाम तथा योगा-प्राणायाम करें। खान-पान में ज्यादा तैलीय पदार्थ का सेवन ना करें। मौसमी फल संतरा, नींबू, नारियल पानी का सेवन करें। मेदोह वटी, त्रिफला गुग्गुल, आरोग्य वर्धनी की दो-दो गोली सुबह-शाम गुनगुने पानी के साथ सेवन करें इसके अलावा सर्वकल्प क्वाथ-200 ग्राम, कायाकल्प क्वाथ 200 ग्राम और त्रिफला चूर्ण 100 ग्राम को मिलाएं। इसके एक चम्मच के मिश्रण को 400 मिली पानी में पकाएं। पानी 100 मिली हो तो इसका सेवन सुबह-शाम खाली पेट करें। निश्चित रूप से लाभ होगा। 
 

आरा से स्वीटी कुमार और जहानाबाद से बृह्मदेव प्रसाद ने पूजा कि कब्ज की समस्या बढ़ जाती है, क्या करें ?

सलाह : पानी खूब पीएं, मांसाहार व तैलीय भोजन का प्रयोग कम करें। भोजन के बाद जीरा पाडर खाएं। 

सवाल: कोरोना से पीड़त था, अब खांसी है। परिवार के अन्य सदस्य बचाव के लिए क्या करें। - रागिनी सिंह, पटना। 

सलाह: सबसे पहले संक्रमण का पता चलते ही अपने आपको आइसोलेट करना सबसे बड़ा उपाय है। खांसी व कोरोना से बचाव के लिए आयुष मंत्रालय द्वारा जारी किया गया काढ़ा काफी फायदेमंद है। च्यवनप्राश, हल्दी दूध, गर्म पानी से गरारा भी लाभदायक है।

यह भी पढ़ें - डायबिटीज को नेचुरली कम करने में मदद करते हैं ये 4 कड़वे फूड, जानिए कैसे

 

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Health Tips: Papaya leaf juice goat milk and Giloy are beneficial in case of dengue