फोटो गैलरी

Hindi News लाइफस्टाइल हेल्थमसालों की भी होती है एक्सपायरी डेट,खराब मसाले खाने से सेहत को होते हैं ये नुकसान

मसालों की भी होती है एक्सपायरी डेट,खराब मसाले खाने से सेहत को होते हैं ये नुकसान

Side Effects Of Using Expired Spices: क्या आप जानते हैं लंबे समय तक के लिए स्टोर किए हुए इन मसालों की भी एक्सपायरी डेट होती है, जिसके बाद इनका इस्तेमाल आपकी सेहत और खाने का स्वाद दोनों बिगाड़ सकता है।

मसालों की भी होती है एक्सपायरी डेट,खराब मसाले खाने से सेहत को होते हैं ये नुकसान
Manju Mamgainलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीWed, 28 Feb 2024 08:57 AM
ऐप पर पढ़ें

Side Effects Of Using Expired Spices: खाने का स्वाद और सुगंध बढ़ाने के लिए भारतीय रसोई में कई तरह के मसालों का उपयोग किया जाता है। भोजन पकाते समय उपयोग किए जाने वाले ये मसाले ना सिर्फ खाने का स्वाद बढ़ाते हैं बल्कि सेहत के लिए बेहद फायदेमंद भी होते हैं। यही वजह है कि घर की महिलाएं एक साथ खूब सारे मसाले खरीदकर लंबे समय तक इनका यूज करती रहती हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं लंबे समय तक के लिए स्टोर किए हुए इन मसालों की भी एक्सपायरी डेट होती है, जिसके बाद इनका इस्तेमाल आपकी सेहत और खाने का स्वाद दोनों बिगाड़ सकता है। जी हां, मसाले एक्सपायर होने के बाद उनमें से फ्रेशनेस और फ्लेवर दोनों गायब हो जाते हैं, जो बाद में बदहजमी या अपच की समस्‍या का कारण बन सकते हैं। आइए जानते हैं एक्सपायरी डेट के मसालों का सेवन करने से सेहत को होते हैं क्या नुकसान। 

एक्सपायरी डेट के मसाले खाने के नुकसान-   
पेट खराब-

भोजन पकाने के लिए खराब मसालों का उपयोग पेट खराब और दस्त का कारण बन सकता है। दरअसल, मिर्च-मसालों में कैप्साइसिन मौजूद होता है जिसका अधिक सेवन करने से पेट की सेहत को नुकसान पहुंचता है। ऐसे में खराब मसाले उल्टी,पेट दर्द,जलन और दस्त जैसी समस्याओं का कारण बन सकते हैं। 

गैस की समस्या-
व्यक्ति के शरीर का अपना एक एसिडिक और बेसिक पीएच लेवल होता है। लेकिन खराब मसालों का सेवन करने से शरीर का यह पीएच बैलेंस खराब हो सकता है। दरअसल, खराब मसालों की वजह से शरीर का पित्त बढ़ने के साथ अधिक मात्रा में एसिड का प्रोडक्शन होता है। जिसकी वजह से व्यक्ति को इनका सेवन करते ही एसिडिटी, सीने में जलन,गैस और पेट में सूजन जैसी समस्याएं महसूस हो सकती हैं। 

पाचन संबंधी समस्याएं-
एक्सपायर हो चुके मसालों में बैक्टीरिया और फंगस ग्रो हो सकते हैं, ज‍िसे खाने से पाचन से जुड़ी बीमारियों का खतरा बढ़ा सकता है। एक्सपायर हो चुके मसाले अधिकतर बैक्‍टीर‍ियल इन्‍फेक्‍शन का कारण बन सकते हैं, जो पाचन संबंधी समस्याओं जैसे कि पेट दर्द, उल्‍टी और अन्य पाचन संबंधी समस्‍याओं का कारण बन सकते हैं।

लिवर की समस्या-
जरूरत से ज्यादा तेल मसाले वाला भोजन करने से लिवर से जुड़ी परेशानियां बढ़ सकती हैं। ऐसे में अगर ये मसाले पहले से ही खराब हों तो यह समस्या को और ज्यादा बढ़ा देते हैं। 

फूड पॉइजनिंग-
एक्पायर मसालों से बना खाना खाने से फूड पॉइजनिंग का खतरा भी हो सकता है। फूड पॉइजनिंग होने पर व्यक्ति को बुखार, मतली, उल्टी, कंपकपी, दस्त, पेट दर्द की समस्या हो सकती है। 

कैसे पता लगाएं कि आपके मसाले खराब हो गए हैं?
-खुशबू और स्वाद का निरीक्षण करके आप बड़ी आसानी से मसालों के खराब होने का पता लगा सकते हैं।
-इसके अलावा मसालों को दोनों हाथों के बीच रखकर रगड़ कर और सूंघ कर पता लगा सकते हैं कि ये सही है या नहीं।
-मसाले के पाउडर को चेक करें कहीं उसमें कोई कीड़े या फंगस तो नहीं लग गया है।

3 साल शेल्फ लाइफ वाले मसाले-
-अदरक पाउडर
-लहसुन पाउडर
- दालचीनी
-मिर्च पाउडर
-पिसी हुई हल्दी
-पीसी हुई इलायची

4 साल शेल्फ लाइफ वाले मसाले-
-धनिया
-सरसों के बीज
-सौंफ के बीज
-काला जीरा
-जीरा
-साबुत जायफल
-साबुत लौंग
-साबुत दालचीनी
-साबुत सूखी मिर्च

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें