फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ लाइफस्टाइल हेल्थकैंसर के दो तिहाई केसेज की वजह खराब लाइफस्टाइल, ऐसे हो सकता है बचाव

कैंसर के दो तिहाई केसेज की वजह खराब लाइफस्टाइल, ऐसे हो सकता है बचाव

Cancer Prevention: कैंसर सबसे भयानक बीमारी मानी जाती है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, साल 2020 में भारत में करीब 14 लाख कैंसर के मामले दर्ज हुए। डॉक्टर्स का मानना है कि लाइफस्टाइल बदलकर इससे बचा जा

कैंसर के दो तिहाई केसेज की वजह खराब लाइफस्टाइल, ऐसे हो सकता है बचाव
Kajal Sharmaमदन जैड़ा, हिंदुस्तान,नई दिल्लीMon, 26 Sep 2022 11:40 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के स्वास्थ्य अनुसंधान विभाग की एक रिपोर्ट के अनुसार कैंसर के 66 फीसदी मामले खराब जीवनशैली की वजह से होते हैं। वहीं, वैज्ञानिक शोध इस ओर संकेत करते हैं कि बेहतर जीवनशैली अपनाकर कैंसर से बचा जा सकता है। स्वास्थ्य अनुसंधान विभाग के तहत भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) द्वारा कैंसर रजिस्ट्री प्रोग्राम भी संचालित किया जाता है। इसमें कैंसर के रोगियों को पंजीकृत कर देश में कैंसर के फैलने की दर का आकलन किया जाता है। यह रजिस्ट्री कैंसर के 262 अस्पतालों में भर्ती होने वाले कैंसर मरीजों पर आधारित है। इसके अनुसार देश में 2020 में कैंसर के करीब 14 लाख मामले दर्ज हुए थे।

लाइफस्टाइल है बड़ा फैक्टर

रिपोर्ट में कहा गया है कि देश में 33 कैंसर के मामले तंबाकू और शराब के सेवन से जुड़े पाए गए हैं। 33 मामले खानपान के कारण हैं। मतलब जीवनशैली सुधार कर कैंसर से बचा जा सकता है। यह पाया गया है कि कैंसर के 20 फीसदी मामले विभिन्न किस्म के संक्रमणों जैसे एचपीवी आदि तथा 10 फीसदी मामले हार्मोन में गड़बड़ी या आनुवांशिक कारणों से हैं। दो फीसदी मामले पेशेगत कारणों से हैं। एक फीसदी मामलों के लिए प्रदूषण को जिम्मेदार माना गया है। ये भी पढ़ें: वैज्ञानिकों को मिला लंबी उम्र जीने वालों का सीक्रेट, रोजाना खाते हैं ये फूड

दिनचर्या में बदलाव कर पा सकते हैं निजात

वर्धमान महावीर मेडिकल कॉलेज, दिल्ली के कम्युनिटी मेडिसिन विभाग के निदेशक प्रोफेसर जुगल किशोर ने कहा कि तंबाकू, शराब और खानपान की कैंसर होने में इससे कहीं ज्यादा भूमिका हो सकती है। तंबाकू अकेले अपने आप में एक बड़ा कारण है। आजकल विभिन्न प्रकार के रसायनों, प्लास्टिक के इस्तेमाल आदि के चलते हमारा खानपान दूषित हो चुका है। यह अंतत कैंसर का कारण बन रहा है।

आहार में काली मिर्च का सेवन बढ़ा देता है मस्तिष्क की कार्यक्षमता, यहां हैं काली मिर्च के और भी फायदे