Hindi Newsलाइफस्टाइल न्यूज़हेल्थpiles to treating diabetes know health benefits of aak leaves Giant calotrope benefits in hindi

बवासीर हो या डायबिटीज की समस्या बेहद फायदेमंद हैं आक के पत्ते, जानें फायदे

Health Benefits Of Aak Leaves: आक के पत्तों में कई एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण मौजूद होते हैं, जो कब्ज, दस्त, जोड़ों के दर्द, दांतों की समस्या जैसे कई रोगों से व्यक्ति का बचाव करते हैं। आइए जानते हैं आक के पत्तों का इस्तेमाल करके व्यक्ति सेहत से जुड़ी कौन सी समस्याएं दूर कर सकता है।

Manju Mamgain लाइव हिन्दुस्तानTue, 4 June 2024 06:07 PM
हमें फॉलो करें

Health Benefits Of Aak Leaves: आयुर्वेद में कई ऐसे पेड़-पौधे हैं, जिन्हें सेहत के लिए वरदान से कम नहीं माना जाता है। ऐसे ही पौधों में आक का नाम भी शामिल है। आक को मदार नाम से भी जाना जाता है और इसका वैज्ञानिक नाम जायंट कैलोट्रोप (Giant calotrope) है। आक के पत्तों में कई एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण मौजूद होते हैं, जो कब्ज, दस्त, जोड़ों के दर्द, दांतों की समस्या जैसे कई रोगों से व्यक्ति का बचाव करते हैं। इस पौधे में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट, एंटी इंफ्लेमेटरी गुण चोट को जल्दी ठीक करने में मदद कर सकते हैं। आइए जानते हैं आक के पत्तों का इस्तेमाल करके व्यक्ति सेहत से जुड़ी कौन सी समस्याएं दूर कर सकता है।

आक के पत्तों के फायदे-

सिरदर्द में आराम-

आक के पत्तों में कुछ खास तरह के तत्व मौजूद होते हैं, जो सिरदर्द की समस्या में राहत दे सकते हैं। सिरदर्द की समस्या दूर करने के लिए आक के पत्तों को पीसकर उसका लेप माथे पर लगाएं।

स्किन प्रॉब्लम में फायदेमंद -

आक के रस में अनेक प्रकार के एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटी सेप्टिक गुण पाए जाते हैं, जो त्वचा पर होने वाली सूजन, लालिमा और जलन को कम करने में मदद करते हैं। इतना ही नहीं आक में मौजूद एंटी बैक्टीरियल गुण कई तरह के त्वचा संक्रमणों को बढ़ने से रोकता है।

बवासीर में फायदेमंद-

बवासीर से परेशान लोगों के लिए भी आक बेहद लाभकारी हो सकता है। इस उपाय को करने के लिए आक के पत्तों को पीसकर बवासीर के घाव पर लगाने से घाव जल्दी भरता है और दर्द में आराम मिलता है।

डायबिटीज में फायदेमंद-

आयुर्वेद में आक के पौधे को डायबिटीज के लिए एक शक्तिशाली जड़ी बूटी माना गया है। नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन की एक रिपोर्ट के अनुसार आक के पत्तों में एंटीडायबिटिक गुण मौजूद होते हैं। चूहों पर किए गए एक अध्ययन में पता चला कि आक के पत्तों और इसके फूलों का अर्क सीरम ग्लूकोज के स्तर को कम करने में प्रभावी हो सकता है। आक के पत्ते और फूल इंसुलिन रजिस्टेंट को रोकते हैं और ब्लड शुगर लेवल में सुधार करते हैं।

जोड़ों के दर्द में राहत-

अध्ययन के अनुसार आक का उपयोग रुमेटेड पेन ( rheumatic pain) के लिए किया जा सकता है। आक के पत्तों में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण मौजूद होते हैं जो जोड़ों में सूजन को कम करने में मदद करते हैं। बता दें, यह गठिया और घुटने के दर्द की समस्या में यह फायदेमंद हो सकता है। इस उपाय को करने के लिए दर्द वाली जगह पर थोड़ा सा तेल लगाकर सूखे आक के पत्ते से ढक दें। इसके बाद ऊपर से पट्टी लपेट दें। ऐसा 5-6 दिनों तक करने से अंदरूनी और बाहरी सूजन दोनों में राहत मिलती है।

गैस्ट्रिक समस्याओं से राहत-

आक के फूल या बीज का सेवन करने से कब्ज, गैस, सूजन और पाचन संबंधी समस्याओं का इलाज किया जा सकता है। इसके फूल पाचन की प्रकिया को आसान बनाते हैं।

लेटेस्ट   Hindi News,  लोकसभा चुनाव 2024,  बॉलीवुड न्यूज,  बिजनेस न्यूज,  टेक,  ऑटो,  करियर ,और   राशिफल, पढ़ने के लिए Live Hindustan App डाउनलोड करें।

ऐप पर पढ़ें