Hindi Newsलाइफस्टाइल न्यूज़हेल्थknow why do air conditioners blast in summer reasons and safety tips to prevent AC from catching fire

इस गर्मी में क्यों फट रहे हैं एसी? जानें ब्लास्ट से बचाव के क्या हैं उपाय

Reasons Why do ACs explode: भीषण गर्मी में एसी का रखरखाव अच्छी तरह से ना करने पर भी एसी में आग लगने की घटनाएं बढ़ सकती हैं।

Manju Mamgain लाइव हिन्दुस्तानFri, 31 May 2024 07:47 PM
हमें फॉलो करें

Reasons Why do ACs explode: भीषण गर्मी और तेज धूप से लोगों का बुरा हाल हो गया है। कई जगहों पर तो तापमान 50 के पार तक पहुंच रहा है। ऐसे में बंद कमरों में एसी की हवा लोगों को राहत देने का काम कर रही है। हालांकि आजकल एसी में आग लगने की खबरों से लोग काफी डरे हुए हैं। हाल ही में नोएडा की लोटस बुलेवार्ड सोसाइटी से एसी फटने की खबर आई। बता दें, घर से लेकर दफ्तरों तक में गर्मी में अब तक 10 से 12 एसी फटने की सूचनाएं सुनने को मिल चुकी हैं। ऐसे में सवाल उठता है कि आखिर गर्मी में एसी क्यों फट रहे हैं और ब्लास्ट से बचने के लिए क्या उपाय किए जा सकते हैं। अगर आप भी इन सवालों के जवाब जानना चाहते हैं तो अपनाएं ये तरीके।

गर्मी में क्यों फट रहे हैं एसी?

भारत में अमूमन एसी के कंडेंसर का तापमान 50 डिग्री सेल्सियस तक होता है। लेकिन जब एम्बिएंस का तापमान कन्डेंसर के तापमान से अधिक हो जाता है, तब एसी काम करना बंद कर देता है। ऐसे हालात में एसी के कंडेंसर पर प्रेशर बढ़ता है और कन्डेंसर के फटने की संभावना बढ़ जाती हैं। विशेषज्ञों की मानें तो वोल्टेज फ्लक्चुएशन के साथ वोल्टेज कम होने पर कंप्रेसर पर अधिक दबाव पड़ता है। इससे कंप्रेसर के साथ अन्य उपकरण पर अधिक दबाव पड़ने पर वह जरूरत से अधिक गर्म हो जाते हैं, जिससे आग लगने की संभावना बढ़ती है। एसी के कंडेसर और इसके बाहर हवा निकलने वाली जगह पर अवरोध पैदा होने पर भी एसी की गर्मी बाहर नहीं निकल पाती है। इससे ब्लास्ट होने का खतरा बढ़ जाता है।

इसके अलावा, भीषण गर्मी में एसी का रखरखाव अच्छी तरह से ना करने पर भी एसी में आग लगने की घटनाएं बढ़ सकती हैं।

एसी को ब्लास्ट से बचाने के लिए ये हैं उपाय-

-घर हो या दफ्तर एसी की वायरिंग कराते समय हमेशा ब्रांडेड वायर डलवाएं।

-बिना स्टैबलाइजर के एसी नहीं चलाएं।

-एसी के अंदर कंडेंसर पर गंदगी, धूल की परत ना जमा होने दें।

-एसी का कम्प्रेशर किसी छांव वाली जगह पर लगवाएं।

-गर्मी की शुरुआत में ही एसी की सर्विस जरूर कराएं।

-अगर एसी से किसी तरह की आवाज आए या स्पार्क करे तो तुरंत जांच कराएं।

-एसी को लगातार न चलाएं

-कोशिश करें कि 5-6 घंटे एसी चलाने के बाद उसे कुछ देर बंद कर दें।

-विंडो एसी को धूप से बचाने के लिए उसके ऊपर फाइबर शेड लगाएं।

-एसी का तापमान 24 पर रखें, यह सबसे आदर्श स्थिति है।

-मिनी सर्किट ब्रेकर एमसीबी का प्रयोग करें।

लेटेस्ट   Hindi News,  लोकसभा चुनाव 2024,  बॉलीवुड न्यूज,  बिजनेस न्यूज,  टेक,  ऑटो,  करियर ,और   राशिफल, पढ़ने के लिए Live Hindustan App डाउनलोड करें।

ऐप पर पढ़ें