Hindi Newsलाइफस्टाइल न्यूज़हेल्थdo you know tummy shape can tell you causes of belly fat

Belly Fat Types: बेली फैट बढ़ने का कारण बता सकता है आपके टमी का शेप, जानें कैसे होगा कम

Types of Belly Fat: पेट पर फैट जमा है तो इसे कम करने के लिए ये जानकारी काफी मदद कर सकती है। जिसकी मदद से आप पेट के शेप को देखकर बेली फैट के कारण का पता लगा सकते हैं।

Aparajita लाइव हिन्दुस्तानSat, 22 June 2024 03:19 PM
हमें फॉलो करें

पेट पर जमा चर्बी किसी को नहीं पसंद होती लेकिन कुछ लोग कितनी भी कोशिश कर लें लेकिन ये बेली फैट कम नही होता। कई बार तो बेली फैट कुछ लोगों के कॉन्फिडेंस लेवल को भी कम कर देता है। ऐसे में ये जानकारी आपके बहुत काम आ सकती है। दरअसल, पेट के साइज और शेप को देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि आखिर पेट पर फैट जमा होने का कारण क्या है। अगर आपके टमी का शेप भी इस तरह का है तो इन वजहों से बेली फैट होता है।

घड़े के जैसा बेली फैट

अगर किसी के पेट का शेप बिल्कुल गोल घड़े के जैसा दिखता है। खासतौर पर आदमियों के, जिसे तोंद भी कहते है। इस तरह के घड़े जैसे शेप वाले पेट का कारण अक्सर लिवर की गड़बड़ी होती है। ऐसे में लिवर को डिटॉक्स करने और लिवर को ठीक करने पर पूरा फोकस करें। इसके लिए इंटरमिटेंट फास्टिंग फायदेमंद हो सकती है।

नाभि के नीचे पेट पर फैट होना

अगर किसी के नाभि के नीचे की तरफ ज्यादा फैट होता है और पेट लटका हुआ फील होता है तो इसका कारण हार्मोनल इंबैलेंस होता है। खासतौर पर एस्ट्रोजन के असर की वजह से, काफी सारी 40 के ऊपर हो रही महिलाओं को नाभि के आसपास के हिस्से पर फैट ज्यादा दिखता है। इसके लिए उन्हें हार्मोंस को बैलेंस करने के बारे में ध्यान देना चाहिए।

नाभि के ऊपर की तरफ फैट

अगर किसी के पेट पर फैट नाभि के ऊपर की तरफ इकट्ठा हो रहा है और पेट ठीक बस्ट एरिया के नीचे की तरफ दिखता है तो इसका कारण स्ट्रेस हो सकता है। खासतौर पर कार्टिसोल हार्मोंन की वजह से।

मॉम पाउच

प्रेग्नेंसी के बाद ज्यादातर महिलाओं का पेट नीचे की तरफ लटका हुआ किसी पाउच के जैसा दिखता है। तो इसका मतलब है कि उस महिला को कोर को स्ट्रांग करने की जरूरत है। जिससे कि पेट वापस से शेप में लौट सके। ऐसे में कई सारी कोर एक्सरसाइज करने से बेली फैट कम किया जा सकता है।

लेटेस्ट   Hindi News,  लोकसभा चुनाव 2024,  बॉलीवुड न्यूज,  बिजनेस न्यूज,  टेक,  ऑटो,  करियर ,और   राशिफल, पढ़ने के लिए Live Hindustan App डाउनलोड करें।

ऐप पर पढ़ें