Hindi Newsलाइफस्टाइल न्यूज़हेल्थ5 reasons can increase the risk of anemia be alert if symptoms appear

एनीमिया का जोखिम बढ़ा सकते हैं ये 5 कारण, लक्षण दिखने पर हो जाएं सतर्क

  • Risk Factors That Could Lead to Anemia: किसी भी कारण से खून में लाल रक्त कोशिकाओं की कमी होती है तो एनीमिया की वजह बनता है। यहां कुछ कारण बता रहे हैं जो एनीमिया के जोखिम को बढ़ा सकते हैं।

Avantika Jain लाइव हिन्दुस्तान, नई दिल्लीMon, 24 June 2024 11:17 AM
हमें फॉलो करें

एनीमिया एक ऐसी स्थिति है जो तब विकसित होती है जब आपके खून में जरूर मात्रा में रेड ब्लड सेल्स या हीमोग्लोबिन की कमी हो जाती है। हीमोग्लोबिन रेड ब्लड सेल्स का मुख्य भाग है और ऑक्सीजन को बांधने में इसकी जरूरी भूमिका होती है। एनीमिया के कारण आपके अंगों को ठीक से काम करने के लिए सही पोषक तत्व और खून की आपूर्ति नहीं मिल पाती है। यहां जानिए एनीमिया का जोखिम बढ़ाने वाले 5 कारण-

1) बार-बार रक्तदान करना

वैसे तो रक्तदान करना बहुत अच्छा है और इसे अक्सर करने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है, लेकिन कम समय में बहुत ज्यादा बार ऐसा करना आपके स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है। दान करने से पहले सुरक्षा बनाए रखने के लिए एक निर्धारित शेड्यूल सेट रखना सबसे अच्छा तरीका है।

2) माहवारी

कोई भी महिला जो अभी भी पीरियड्स के लिए व्यवहार्य है, उसे पुरुषों या पोस्टमेनोपॉजल पुरुषों की तुलना में आयरन की कमी से होने वाले एनीमिया का खतरा ज्यादा होता है। पीरियड्स के कारण लाल रक्त कोशिकाओं की हानि होती है, जिससे आपको इस स्थिति का खतरा बढ़ जाता है।

3) गर्भावस्था और प्रसव के वर्ष

पीरियड्स के दौरान ज्यादा खून की हानि और विकासशील भ्रूण के लिए खून आपूर्ति की ज्यादा मांग के कारण गर्भवती महिलाएं एनीमिया से ज्यादा पीड़ित होती हैं।

4) परिवार के इतिहास

परिवार के किसी सदस्य को एनीमिया होने से आपको इस स्थिति का ज्यादा खतरा होता है, उस व्यक्ति की तुलना में जिसके पास इस बीमारी का कोई पारिवारिक इतिहास नहीं है।

5) कुपोषण

छोटे बच्चों में एनीमिया होने का खतरा ज्यादा होता है, लेकिन जिनके शरीर में लगातार आवश्यक पोषक तत्वों और खनिजों की कमी होती है, उन्हें एनीमिया हो सकता है। रोजाना उचित मात्रा में पोषक तत्व और खनिज प्राप्त करने से इस स्थिति से लड़ने वालों को मदद मिलेगी

इन लक्षणों के दिखने पर हो जाएं सतर्क

- सामान्य से ज्यादा बार या व्यायाम के दौरान कमजोरी या थकान महसूस होना

- सिर दर्द

- ध्यान केंद्रित करने या सोचने में समस्याएं

- चिड़चिड़ापन

- भूख में कमी

- हाथों और पैरों का सुन्न होना

- आंखों के सफेद हिस्से का रंग नीला होना

- नाज़ुक नाखून

- बर्फ या दूसरी चीजें खाने की इच्छा

- त्वचा का रंग पीला पड़ना

- सांस की तकलीफ

- जीभ में घाव या सूजन

- मुंह के छालें

- पुरुषों में यौन इच्छा की कमी

क्या हैं अल्जाइमर के लक्षण, जानिए इससे कैसे बचें

विटामिन B12 की डेफिशियेंसी होने पर दिखते हैं ये लक्षण

लेटेस्ट   Hindi News,  लोकसभा चुनाव 2024,  बॉलीवुड न्यूज,  बिजनेस न्यूज,  टेक,  ऑटो,  करियर ,और   राशिफल, पढ़ने के लिए Live Hindustan App डाउनलोड करें।

ऐप पर पढ़ें