फोटो गैलरी

Hindi News लाइफस्टाइल खानाKitchen Hacks: मीठा आलू खराब कर सकता है खाने का स्वाद, ऐसे करें नए और पुराने की पहचान

Kitchen Hacks: मीठा आलू खराब कर सकता है खाने का स्वाद, ऐसे करें नए और पुराने की पहचान

Difference between new and old potatoes: आलू खरीदते समय कुछ बातों का ध्यान अगर रखा जाए तो आप इस बात का आसानी से पता लगा सकते हैं कि आलू स्वाद में मीठा होगा कि नहीं। आइए जानते हैं आलू खरीदते समय कैसे प

Kitchen Hacks: मीठा आलू खराब कर सकता है खाने का स्वाद, ऐसे करें नए और पुराने की पहचान
Manju Mamgainलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीFri, 16 Feb 2024 09:24 AM
ऐप पर पढ़ें

Difference between new and old potatoes: भारतीय रसोई में ज्यादातर सब्जियां आलू के बिना नहीं बनाई जाती हैं। आलू मटर से लेकर आलू मेथी,आलू गोभी सबका स्वाद आलू के बिना अधूरा रहता है। लेकिन कई बार सब्जी का स्वाद बढ़ाने के लिए उसमें डाले जाने वाले आलू अगर स्वाद में मीठे हों तो भी सब्जी का स्वाद खराब हो जाता है। ऐसे में आलू खरीदते समय कुछ बातों का ध्यान अगर रखा जाए तो आप इस बात का आसानी से पता लगा सकते हैं कि आलू स्वाद में मीठा होगा कि नहीं। आइए जानते हैं आलू खरीदते समय कैसे पता करें आलू नए हैं या पुराने। 

ऐसे पहचानें आलू मीठा है या नहीं-
-नए आलुओं की त्वचा बहुत पतली व नर्म होती है। इतनी कि जरा सी रगड़ लगते ही यह छिल जाती है। यह छाल समय के साथ मोटी होती जाती हैं। जबकि पुराने आलू के छिलते चाकू से छीलने पड़ते हैं।
-मीठे आलुओं में छिलके के नीचे हरा रंग दिखाई देने लगता हैं। ऐसा क्लोरोफिल के कारण होता है। आलू में हरापन (बहुत कम हरा भी) निश्चित ही शर्करा की अधिकता बतलाता है।
-आलू में मिठास बढ़ने के साथ-साथ उसमें अंकुर भी आने लगते हैं। जिन आलुओं में अंकुर आने लगते हैं वो अवश्य ही मीठे होंगे।

नया आलू-
-नए आलू में विटामिन B6,विटामिन-सी, राइबोफ्लेविन, नियासिन, थायमिन और विटामिन-के जैसे पोषक तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। 
- नए आलू का स्वाद काफी अच्छा और ताजा होता है।
-नए आलू को बेबी पोटैटो भी कहा जाता है। दरअसल, ज्यादातर नए आलू आकार में छोटे-छोटे होते हैं। कहा जाता है कि इसका सेवन करना काफी फायदेमंद होता है। 
-नए आलू को पूरी तरह पकने से पहले ही जमीन से बाहर निकाल दिया जाता है। 

पुराने आलू-
-फसल पुरानी होने पर इसे पुराना आलू कहा जाता है। जो समय के साथ अधिक मीठा होने लगता है। 
-आलू में मौजूद कार्बोहाइड्रेट धीरे धीरे शर्करा में परिवर्तित होने लगता है। 
-पुराने आलू का स्वाद नए आलू की तुलना में ज्यादा अच्छा नहीं होता है।
-पुराने आलू पर सूरज की रोशनी ज्यादा पड़ने पर इसका स्वाद बदलने लगता है।
-जब आलू पुराना हो जाता है और पकने लगता है, तो इसमें मौजूद स्टार्च ग्लूकोज में बदलने लगता है और इसमें 1 तरीके की मिठास आ जाती है जो अमूमन सब्जी या फिर नमकीन चीजों में अच्छी नहीं लगती है।  

नए और पुराने आलू के स्वाद में अंतर-
-नए आलू में पौष्टिकता और स्वाद बहुत अधिक अंतर होता है। जबकि  पुराने आलू थोड़े सख्त हो सकते हैं और उन्हें ज्यादा पकाने की जरूरत होती है, ताकि इसका स्वाद अच्छा हो सके। 

-नए आलू को लंबे समय तक स्टोर किया जा सकता है,यह जल्दी से खराब नहीं होते हैं। वहीं, पुराने आलू अधिक समय तक स्टोर करके नहीं रखे जा सकते हैं क्योंकि यह जल्दी से खराब हो जाते हैं। 

आलू खरीदते समय ध्यान रखें ये बात-
आलू खरीदते समय इसे दबा कर देखें अगर यह नर्म लगे तो इन्हें ना खरीदें, क्योंकि ऐसे आलू पके हुए हो सकते हैं। हमेशा कड़क और मीडियम साइज के आलू खरीदें।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें