Hindi Newsलाइफस्टाइल न्यूज़फिटनेसYoga For Increase Height: know how to increase kids height in hindi

बच्चे की नहीं बढ़ रही हाइट तो रूटिन में शामिल करें ये 3 योगासन, जल्द दिखने लगेगा फर्क

Yoga For Increase Height: अगर आपको भी लगता है कि आपके बच्चे की अपनी उम्र के अनुसार हाइट कम बढ़ रही है या बाकी साथी बच्चों की तुलना में उसकी ग्रोथ रुक गई है तो बच्चे के रूटीन में ये योगासन शामिल करें।

kids height measuring
Manju Mamgain लाइव हिन्दुस्तान टीम, नई दिल्लीFri, 19 Jan 2024 04:28 PM
हमें फॉलो करें

Yoga For Increase Height: कई बार पोषण की कमी और बच्चे के शारीरिक रुप से एक्टिव ना हो पाने की वजह से उसकी हाइट बढ़ने से रूक जाती है। ऐसा शरीर का ठीक ढंग से विकास नहीं हो पाने की वजह से होता है। माता-पिता भी अक्सर ऐसे बच्चों की लंबाई को लेकर चितां में रहते हैं। अगर आपको भी लगता है कि आपके बच्चे की अपनी उम्र के अनुसार हाइट कम बढ़ रही है या बाकी साथी बच्चों की तुलना में उसकी ग्रोथ रुक गई है तो बच्चे के डेली रूटीन में ये 3 योगासन जरूर शामिल करें।

ताड़ासन- बच्‍चे की हाइट बढ़ाने के लिए उसे नियमित रूप से ताड़ासन का अभ्यास करवाना चाहिए। ताड़ासन करने से बच्चे की ग्रोथ अच्छी होने के साथ उसमें बैलेंसिंग स्किल भी अच्छी होती है। यह शरीर को लचीला करने में सहायता कर सकता है, जिससे लंबाई बढ़ने में सहायता मिल सकती है। ताड़ासन करने के लिए सबसे पहले सीधे खड़े होकर अपने दोनों हाथों को एक साथ ऊपर उठाते हुए अपने हाथों की मुट्ठी बांध लें। इसके बाद अपने एक पैर को उठाकर दूसरे पैर के जांघ पर रख लें। कुछ देर इसी स्थिति में बने रहें। इसके बाद अपने हाथों और पैरों को नीचे करते हुए इस प्रक्रिया को दूसरे पैर से भी दोहराएं।

धनुरासन- धनुष मुद्रा बच्चे की हाइट बढ़ाने के साथ उसकी ऊर्जा को बनाए रखने में भी मदद करती है। जिससे उसे थकान से लड़कर लंबे समय तक बैठने का संयम भी मिलता है। इस आसन को करने के लिए सबसे पहले पेट के बल लेट जाएं। घुटनों को मोड़ते हुए टखनों को हथेलियों से पकड़ें। फिर दोनों पैरों और बांहों को जितना हो सके ऊपर की ओर उठाएं। ऊपर देखते हुए कुछ देर के लिए इसी अवस्था में रहें। बाद में पुरानी पोजीशन में आ जाएं। 

वृक्षासन- बच्चे के लिए वृक्षासन वरदान से कम नहीं है। वृक्षासन करने से पैर और हाथों की मांसपेशियों में खिंचाव आता है, जो लंबाई बढ़ाने में मदद करता है। इस आसन को करने के लिए सूर्य की दिशा में मुख करके सावधान की अवस्था में खड़े हो जाएं। अब दोनों हाथों को हवा में ऊपर की ओर ले जाते हुए नमस्कार की मुद्रा बना लें। अपने बाएं पैर के पंजे को दाएं पैर की जांघ पर लगाकर वृक्ष की तरह खड़े हो जाएं। अपनी क्षमता अनुसार कुछ देर तक संतुलन बनाकर रखें। अब वापस सावधान की मुद्रा में आ जाएं।

ऐप पर पढ़ें