फोटो गैलरी

Hindi News लाइफस्टाइल फिटनेसवेट लॉस ही नहीं दिल की सेहत का भी रखता है ख्याल भुना चना, ये है फायदे

वेट लॉस ही नहीं दिल की सेहत का भी रखता है ख्याल भुना चना, ये है फायदे

Roasted Chana For Weight Loss: फिट रहने के लिए क्या खाएं और क्या नहीं ये सवाल शायद आपके मन को भी परेशान करता होगा। अगर हां, तो आपको अपनी फूड हैबिट्स में थोड़ा सा बदलाव करके की जरूरत है। आइए जानते हैं

वेट लॉस ही नहीं दिल की सेहत का भी रखता है ख्याल भुना चना, ये है फायदे
Manju Mamgainलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीFri, 29 Sep 2023 06:36 PM
ऐप पर पढ़ें

Health Benefits Of Eating Roasted Chana: अगर आप अपनी वेट लॉस जर्नी में हैं लेकिन समय-समय पर लगने वाली भूख को कंट्रोल नहीं कर पाते हैं। जिसकी वजह से आपका वजन कम होने की जगह बढ़ता जा रहा है तो अपनी डाइट में भुने हुए चने जरूर शामिल कर लें। भुने चने में पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन, फाइबर, मैंगनीज, फोलेट, फास्फोरस, तांबे, फैटी एसिड, कैल्शियम, आयरन और विटामिंस जैसे आवश्यक पोषक तत्व पाए जाते हैं। जो वेट लॉस से लेकर आपकी इम्यूनिटी तक को बूस्ट करने का काम करते हैं। आइए जानते हैं अपनी डाइट में भुने चने शामिल करने से व्यक्ति को मिलते हैं कौन-कौन से फायदे।  

कब्ज से राहत दिलाए
चने कब्ज से छुटकारा दिलाने में भी फायदेमंद होते हैं। आप थोड़े से चने भून लें, सुबह खाली पेट इनका सेवन करें। इससे कब्ज की समस्या में काफी हद तक आराम मिलता है। कब्ज होने पर आप कुछ दिनों तक लगातार भुने हुए चने खा सकते हैं, इससे आपको काफी लाभ मिलेगा।

वेट लॉस में फायदेमंद-
अगर आप भी अपनी वेट लॉस जर्नी में हैं तो अपनी डाइट में भुना चना जरूर शामिल करें। भुने हुए चने में मौजूद फाइबर पेट को लंबे समय तक भरा हुआ रखता है। जिसकी वजह से व्यक्ति को बार-बार भूख नहीं लगती और वो ओवर ईटिंग करने से बच जाता है। नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, फाइबर से भरपूर चीजें खाने से आपका पेट लंबे समय तक भरा रहता है। इसके अलावा फाइबर पाचन को बेहतर बनाए रखने के साथ कब्ज को रोकने में भी मदद करता है।

डायबिटीज-
डायबिटीज में भी भुना चना खाने से कई फायदे मिलते हैं। दरअसल, कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाले खाद्य पदार्थ डायबिटीज रोगियों के लिए बेहतर माने जाते हैं। कम जीआई होने का मतलब है कि उस विशेष खाद्य पदार्थ के सेवन से आपके ब्लड शुगर लेवल में अन्य खाद्य पदार्थों की तरह उतार-चढ़ाव नहीं होगा। चूंकि चने का जीआई लेवल 28 है इसलिए यह डायबिटीज के रोगियों के लिए खाने का एक अच्छा विकल्प माना जाता है।

दिल की सेहत-
भुने हुए चने में मैंगनीज, फोलेट, फास्फोरस और तांबे जैसे कई पोषक तत्व मौजूद होने की वजह से यह दिल की सेहत का खास ख्याल रखता है। इसमें मौजूद फास्फोरस रक्त परिसंचरण में सुधार करके दिल को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता है। 

ब्लड प्रेशर करता है कंट्रोल-
चने में फैट और कैलोरी की मात्रा कम होने के साथ प्रोटीन और फाइबर की अधिकता होती है। इसके अलावा भुने चने में मौजूद कॉपर, मैंगनीज और मैग्नीशियम सूजन कम करके रक्त वाहिकाओं को आराम देने में मदद करते हैं। मैंगनीज ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम करता है। भुने चने में फॉस्फोरस होता है, जो ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में मदद करता है।

पाचन को बनाए बेहतर-
भुना चने में मौजूद फाइबर पाचन को बेहतर बनाकर कब्ज जैसी समस्या से भी बचाव करता है। भुने चने को डाइट में शामिल करके डाइजेशन से जुड़ी सस्याओं को दूर किया जा सकता है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें