फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News लाइफस्टाइल फिटनेसबॉडी डिटॉक्स ही नहीं वेट लॉस में भी मदद करता है बूटी योग, जानें फायदे

बॉडी डिटॉक्स ही नहीं वेट लॉस में भी मदद करता है बूटी योग, जानें फायदे

Health Benefits Of Buti Yoga: बूटी योग दरअसल योग और एक्‍सरसाइज का एक फ्यूजन है। जिसकी मदद से व्यक्ति एक बार में 200 से 300 तक कैलोरीज तक बर्न कर सकता है। आइए जानते हैं आखिर क्या है बूटी योग और इसके फा

बॉडी डिटॉक्स ही नहीं वेट लॉस में भी मदद करता है बूटी योग, जानें फायदे
Manju Mamgainलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीTue, 12 Sep 2023 08:14 PM
ऐप पर पढ़ें

Health Benefits Of Buti Yoga: सद‍ियों से व्यक्ति अपने तन और मन को सेहतमंद बनाए रखने के लिए योग का सहारा लेता आया है। समय के साथ योग और उसे करने के तरीकों में भी काफी बदलाव आए हैं। ऐसे ही एक बदलाव का नतीजा है बूटी योग। बूटी योग दरअसल योग और एक्‍सरसाइज का एक फ्यूजन है। जिसकी मदद से व्यक्ति एक बार में 200 से 300 तक कैलोरीज तक बर्न कर सकता है। आइए जानते हैं आखिर क्या है बूटी योग और इसके फायदे। 

क्‍या है बूटी योग ?
बूटी एक मराठी शब्‍द है। इसका मतलब होता है 'क‍िसी छुपी हुई बीमारी का इलाज'। बूटी की  मदद से व्‍यक्‍त‍ि अपने भीतर की ऊर्जा, शक्ति और आत्‍मव‍िश्‍वास को हास‍िल कर सकता है। इस योग को करने से शरीर में लचीलापन बना रहने के साथ कार्ड‍ियोवैस्‍कुलर हेल्‍थ भी अच्छी बनी रहती है। यह योग हाई इन्टेन्सिटी वर्कआउट योग है। जिसमें पारंपर‍िक योग, ट्राइबल डांस, जंप‍िंग और हाई इन्टेन्सिटी स्‍टेप्‍स शाम‍िल होते हैं। 

बूटी योग के फायदे- 

-बूटी योग करने से कैलोरीज तेजी से बर्न होती हैं। जिससे वेट लॉस में मदद मिलती है। 
-बूटी योग में डांस और म्‍यूज‍िक शामिल होने की वजह से यह तनाव और ड‍िप्रेशन के लक्षण कम करने में मदद करता है। 
-बूटी योग करते समय एनर्जी ज्‍यादा खर्च होती है। जिससे व्यक्ति को पसीना ज्‍यादा आता है और पसीने के जरिए त्‍वचा में मौजूद व‍िषाक्‍त पदार्थ भी शरीर से बाहर निकल जाते हैं।
-बूटी योग को करने से हार्ट रेट बैलेंस होता है। जिससे दिल से जुड़ी बीमार‍ियों का खतरा कम होता है।
-कोर स्‍ट्रे्ंथ को मजबूत बनाने के ल‍िए भी बूटी योग फायदेमंद माना जाता है।

बूटी योग करने का तरीका-  
बूटी योग शुरू करने से पहले वॉर्मअप कर लें। ताकि योग के दौरान शरीर लचीला बना रहे और अचानक झटका या मोच न आए। वॉर्मअप में डीप ब्रीद‍िंग, 20 म‍िनट वॉक और स्‍ट्रेच‍िंग शामिल की जा सकती है। जिसके बाद सबसे पहले कार्ड‍ियो स्‍टेप्‍स से शुरुआत करें। इसमें आप ज‍ंप‍िंग जैक्‍स, तेज जॉग‍िंग, साइक‍ल चलाना और सीढ़ियां चढ़ने जैसे आसान व्‍यायाम कर सकते हैं। इसके बाद कुछ देर ध्‍यान की मुद्रा में बैठ जाएं और फिर वीरभद्रासन, अधोमुख श्वानासन, ऊर्ध्व मुख श्वानासन और चतुरंग दंडासन जैसे योगों का अभ्यास करें। बूटी योग में आप फ्रीस्‍टाइल डांस को अपने मुताब‍िक कर सकते हैं। लेकिन शरीर को शांत करने के ल‍िए बूटी योग को समाप्त स्‍ट्रेच‍िंग के साथ करें। इसके बाद कुछ देर आराम करके पानी प‍िएं।