फोटो गैलरी

Hindi News लाइफस्टाइल फिटनेसछाती में जमा बलगम और खांसी से राहत देगा ये आयुर्वेदिक अदरक का काढ़ा, जान लें बनाने का सही तरीका

छाती में जमा बलगम और खांसी से राहत देगा ये आयुर्वेदिक अदरक का काढ़ा, जान लें बनाने का सही तरीका

Ayurvedic Ginger Kadha For Flu And Chest Congestion: ठंड शुरू होते ही अगर आपको भी सर्दी-जुकाम के साथ छाती में बलगम जमने की समस्या होने लगती है तो ये आयुर्वेदिक अदरक का काढ़ा आपकी समस्या को दूर कर सकता

छाती में जमा बलगम और खांसी से राहत देगा ये आयुर्वेदिक अदरक का काढ़ा, जान लें बनाने का सही तरीका
Manju Mamgainमंजू ममगाईं,नई दिल्लीFri, 29 Dec 2023 02:26 PM
ऐप पर पढ़ें

Ayurvedic Ginger Kadha For Flu And Chest Congestion: सर्दियां शुरू होते ही कई लोगों को सर्दी-जुकाम के साथ छाती में बलगम जमने की समस्या भी परेशान करने लगती है। जिसकी वजह से कई बार उन्हें सांस लेने में दिक्कत महसूस होने के साथ फेफड़ों में इन्फेक्शन और निमोनिया जैसी समस्याएं भी पैदा होने लगती हैं। यह समस्या उन लोगों को ज्यादा परेशान करती है, जिनकी इम्यूनिटी कमजोर होती है। अगर सर्दियों के मौसम में आप भी छाती में बलगम जमने से परेशान रहते हैं तो ये आयुर्वेदिक अदरक का काढ़ा आपकी समस्या को दूर करने में आपकी मदद कर सकता है। आइए जानते हैं क्या है इसे बनाने का सही तरीका। 

न्यूट्रिशनिस्ट और वैलनेस एक्सपर्ट वरुण कत्याल कहते हैं कि इस आयुर्वेदिक काढ़े में सबसे जरूरी चीज अदरक है। अदरक व्यक्ति की इम्यूनिटी को बूस्ट करके उसे सर्दी जुकाम जैसे मौसमी संक्रमण से दूर रखने में मदद करता है। सर्दियों में आप अपनी इम्यूनिटी को बूस्ट करने के लिए अदरक का सेवन सीधा ही कर सकते हैं। अदरक का सेवन करने से गले के दर्द और सर्दी जुकाम में राहत मिलती है। सर्दी और फ्लू होने पर अदरक का सेवन जरूर करें। ये आपके फेफड़ों में गर्मी पैदा करके जमे हुए कफ को पिघलाने में मदद कर सकता है।

अदरक का काढ़ा बनाने का तरीका-
अदरक का काढ़ा बनाने के लिए सबसे पहले बर्तन में एक गिलास पानी डालकर उसमें काली मिर्च,तुलसी के पत्ते,एक बड़ा तेज पत्ता,एक छोटा टुकड़ा कच्ची हल्दी, दालचीनी एक स्टिक,गुड़ और अदरक डालकर लगभग 20 मिनट के लिए उबलने दें। जब काढ़े के पानी का रंग बदलकर आधा हो जाए तो इसे गिलास में छानकर पी लें। इस बात का खास ख्याल रखें, कि आपको गर्म काढ़े का ही सेवन करना है। 

अदरक के काढ़े के फायदे-
काढ़े में मौजूद हल्दी में कई तरह के औषधीय गुण मौजूद होते हैं। इसमें मौजूद करक्यूमिन नाम का यौगिक बलगम को पतला करने में मदद करता है। जबकि अदरक में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट और एंटीबैक्टीरियल गुण संक्रमण से लड़कर कफ और बलगम की समस्या को दूर करने में मदद करते हैं। काढ़े में डाली जाने वाली काली मिर्च सर्दी जुकाम में फायदा पहुंचाकर फेफड़ों में जमे बलगम को ढीला करने में मदद करती है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें