फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News लाइफस्टाइल फिटनेसडेंगू ही नहीं डायबिटीज में भी बेहद फायदेमंद है गिलोय का सेवन, ये हैं आयुर्वेदिक फायदे

डेंगू ही नहीं डायबिटीज में भी बेहद फायदेमंद है गिलोय का सेवन, ये हैं आयुर्वेदिक फायदे

Health Benefits Of Giloy: आयुर्वेद के अनुसार, गिलोय की जड़ें, तना और पत्तियां तीनों ही सेहत के लिए बहुत गुणकारी होती है। आयुर्वेद के अनुसार, गिलोय का नियमित सेवन स्वाइन फ्लू, डेंगू और मलेरिया जैसे गंभीर रोगों से बचाव करके सेहत को अनेक फायदे देता है।

डेंगू ही नहीं डायबिटीज में भी बेहद फायदेमंद है गिलोय का सेवन, ये हैं आयुर्वेदिक फायदे
Manju Mamgainलाइव हिन्दुस्तानTue, 28 May 2024 01:25 PM
ऐप पर पढ़ें

Health Benefits Of Giloy: आयुर्वेद में कई ऐसी चीजों का जिक्र किया गया है, जिन्हें सेहत के लिए वरदान माना जाता है। ऐसी ही चीजों में गिलोय का भी नाम शामिल है। गिलोय में गिलोइन, टीनोस्पोरिन, टीनोस्पोरिक एसिड, आयरन, पामेरियन, फास्फोरस, कॉपर, कैल्शियम और जिंक आदि जैसे पोषक पाए जाते हैं। जो स्वाइन फ्लू, डेंगू और मलेरिया जैसे गंभीर रोगों से बचाव करके सेहत को अनेक फायदे देते हैं। आयुर्वेद के अनुसार, गिलोय की जड़ें, तना और पत्तियां तीनों ही सेहत के लिए बहुत गुणकारी होती है। आइए जानते हैं गिलोय का नियमित सेवन सेहत को देता है क्या-क्या फायदे।

गिलोय के फायदे-

जोड़ों में दर्द के लिए

जो लोग जोड़ों में दर्द की समस्या से परेशान रहते हैं उन्हें अपनी डेली डाइट में गिलोय को शामिल कर लेना चाहिए। इसके लिए गिलोय के तने का चूर्ण बनाकर दूध में उबाल लें। अब इस दूध को पीने से जोड़ों के दर्द में आराम मिल सकता है। वहीं जो लोग गठिया दर्द से राहत पाना चाहते हैं वो इसे अदरक के साथ मिलकर पी सकते हैं।

खून साफ करता है-

गिलोय के तनों को पानी में अच्छे से उबालकर छानने के बाद इसका पानी पीने से शरीर के विषाक्त पदार्थ बाहर निकल जाते हैं और व्यक्ति का खून साफ रहता है। इतना ही नहीं गिलोय का काढ़ा त्वचा संबंधी रोगों और एलर्जी से बचाव करके फोड़े-फुंसी, रक्त विकार और चर्म रोग दूर कर सकता है।

इम्यूनिटी-

बीमारियों से बचाव के लिए शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होनी जरूरी होती है। इम्यूनिटी बूस्ट करने के लिए गिलोय को असरदार माना गया है। गिलोय के जूस के नियमित सेवन से इम्यूनिटी बूस्ट होती है, जिससे सर्दी जुकाम समेत संक्रामक बीमारियों के जोखिम से बचाव होता है।

त्वचा की सेहत में सुधार-

गिलोय में मौजूद एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुण त्वचा की सेहत में सुधार करके मुंहासे, धब्बे और अन्य स्किन कंडीशन को भी काफी कम कर सकते हैं। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण एजिंग के प्रभाव को भी कम करने में मदद करता है।

डायबिटीज-

गिलोय टाइप 2 डायबिटीज को नियंत्रित करने में काफी असरदार माना गया है। गिलोय इंसुलिन रेजिस्टेंस को कम करता है। गिलोय का रस पीने से ब्लड शुगर के बढ़े हुए स्तर को भी कंट्रोल किया जा सकता है।

डेंगू-

डेंगू होने पर मरीज को तेज बुखार हो जाता है। गिलोय में मौजूद एंटीपायरेटिक गुण बुखार को जल्दी ठीक करने में मदद करके इम्युनिटी बूस्टर की तरह काम करते हैं।