Hindi Newsलाइफस्टाइल न्यूज़ब्यूटीwhy night cream is important for anti ageing know right age to use

सस्ते के चक्कर में ना पड़ें, जानें कैसे चुनें सही नाइट क्रीम

  • त्वचा की देखभाल अगर सलीके से की जाए तो प्रोडक्ट्स खत्म होने का नाम नहीं लेते। इन्हीं प्रोडक्ट्स में से एक है, नाइट क्रीम। इसे क्यों करें अपनी स्किन केयर रुटीन में शामिल और क्या हैं इसके फायदे, बता रही हैं स्वाति गौड़

night cream
Kajal Sharma हिंदुस्तान Fri, 21 June 2024 05:38 PM
हमें फॉलो करें

दिन भर की भागदौड़ और गहमागहमी शरीर को बुरी तरह थका देती है और रात होते-होते सिवाय आराम करने के कुछ और नहीं सूझता है। सोने से ठीक पहले त्वचा की देखभाल करना हमारी सूची में रहता ही नहीं। आमतौर पर महिलाओं को लगता है कि सुबह नहाने के बाद चेहरे पर कोई क्रीम लगाने या महीने में एक बार फेशियल करवाने से चेहरे की त्वचा की देखभाल हो जाती है। यदि कुछ ज्यादा देखभाल करनी भी हो तो सुबह वाली क्रीम ही रात को भी चेहरे पर लगा ली। लेकिन, असल में यह सिर्फ एक गलतफहमी है। विशेषज्ञों के अनुसार दिन और रात के समय त्वचा की देखभाल एक ही तरह से नहीं की जा सकती क्योंकि दिन में चेहरे पर लगाया जाने वाला मॉइस्चराइजर रात के समय त्वचा की पोषण संबंधी जरूरतें पूरी नहीं कर पाता है। यही वजह है कि अपने स्किन केयर रुटीन में एक अच्छी नाइट क्रीम को शामिल करना बहुत जरूरी है। लेकिन उससे पहले यह जान लेना जरूरी है कि नाइट क्रीम सामान्य फेस क्रीम से अलग क्यों होती है।

क्यों अलग है नाइट क्रीम?

दिन के समय लगाई जाने वाली फेस क्रीम धूल-मिट्टी और प्रदूषण से चेहरे की कोमल त्वचा की रक्षा करती है। एसपीएफ युक्त यह डे क्रीम सूरज की अल्ट्रा वायलेट किरणों से भी त्वचा की रक्षा करती हैं। आमतौर पर यह सनस्क्रीन युक्र्त ंटटेड मॉइस्चराइजर होता है, जो चेहरे से धाग-धब्बे छिपाने के साथ-साथ उसे पोषण भी देता है। पर, नाइट क्रीम अपेक्षाकृत गाढ़ी होती है, जिसमें रेटिनॉल, ग्लाकोलिक एसिड या अऌअ और इऌअ जैसे सक्रिय तत्व होते हैं। ये तत्व आपके सोने के समय त्वचा की टूटी-फूटी कोशिकाओं की मरम्मत करके उसे जवां बनाने का काम करते हैं। यदि अभी भी आप असमंजस में हैं कि नाइट क्रीम का इस्तेमाल करना चाहिए या नहीं, तो जरा इसके इन फायदों पर गौर कीजिए:

रोके असमय बुढ़ापे के लक्षण

सोते समय हमारा शरीर टूटी हुई कोशिकाओं की मरम्मत और उनके पुनर्निर्माण में लग जाता है। नाइट क्रीम इस प्रक्रिया को ज्यादा प्रभावशाली बनाने में मदद करती है। असल में इसमें मौजूद रेटिनॉल जैसे तत्व कॉलेजन का उत्पादन बढ़ाकर झुर्रियों और झाइयों को कम करने में अहम भूमिका निभाते हैं।

आवश्यक नमी की आपूर्ति

चेहरे की त्वचा इतनी नाजुक होती है कि बहुत जल्दी नमी खोने लगती है। बेहद ठंडे, बहुत गर्म या शुष्क वातावरण में लंबे समय तक रहने से त्वचा और ज्यादा तेजी से रूखी और बेजान लगने लगती है। इसी प्रकार सारा दिन एसी में रहने से भी त्वचा की नमी खत्म होने लगती है। नाइट क्रीम में मौजूद हाईऐल्युरोनिक एसिड जैसे तत्व रात भर काम करके त्वचा की खोई नमी वापस लाने का काम करते हैं।

सुधारे चेहरे का रक्तप्रवाह

नाइट क्रीम लगाने के दिशा-निर्देशों में साफ लिखा होता है कि इसे हल्के हाथ से मसाज करते हुए चेहरे पर लगाएं। इससे ना केवल त्वचा क्रीम को अवशोषित कर लेती है बल्कि चेहरे का रक्तप्रवाह भी तेज हो जाता है, जिसकी वजह से त्वचा की रंगत गुलाबी हो जाती है और वह चमकदार दिखने लगती है।

क्षतिग्रस्त त्वचा की मरम्मत

रोजमर्रा में धूल-मिट्टी और प्रदूषण के संपर्क में आकर त्वचा की बनावट और टेक्सचर खराब होने लगता है। इसी प्रकार मेकअप भी त्वचा को प्रभावित करता है, नतीजतन चेहरे पर थकान, एक्ने और मुहांसों की समस्या हो सकती है। लेकिन रात के समय नाइट क्रीम का रोजाना इस्तेमाल इन दुष्प्रभावों को काफी हद तक कम करने में बहुत सहायक होता है।

त्चचा की समस्या रहेगी दूर

त्वचा की प्रकृति के हिसाब से उसकी समस्याएं भी अलग-अलग ही होती हैं। मसलन किसी को कील-मुहांसों की समस्या होती है, तो कोई हाइपरपिग्मेंटेशन से परेशान होता है। इसके अलावा भी त्वचा का रूखापन, कालापन, जलन या त्वचा बहुत जल्दी शुष्क हो जाना कुछ ऐसी सामान्य समस्याएं हैं, जिनसे अकसर महिलाएं परेशान रहती हैं। ऐसे में अपनी जरूरत के हिसाब से किसी अच्छे ब्रांड की नाइट क्रीम के नियमित इस्तेमाल से काफी लाभ मिल सकता है।

कैसे चुनें सही नाइट क्रीम

तैलीय, रूखी या कॉम्बिनेशन स्किन के अनुरूप ही नाइट क्रीम का चयन करें।

एक्सपट्र्स के मुताबिक बीस साल की उम्र से ही किसी अच्छी नाइट क्रीम का इस्तेमाल शुरू कर देना चाहिए।

उम्र के तीसवें दशक में एंटी-र्एंजग तत्वों युक्त नाइट क्रीम का चुनाव करना चाहिए।

50 साल या उससे ज्यादा बड़ी महिलाओं को ऐसी क्रीम का चुनाव करना चाहिए, जो नमी देने के साथ-साथ उम्र के प्रभाव को भी कम कर सके।

यदि त्वचा शुष्क हो तो हाईऐल्युरोनिक एसिड युक्त क्रीम का ही चुनाव करें ताकि त्वचा को जरूरी नमी मिल सके।

ऑयली त्वचा के लिए ग्लाइकोइलिक या लैक्टिक एसिड युक्त नाइट क्रीम चुनें।

इस बात का भी ध्यान रखें कि आपकी नाइट क्रीम में विटामिन-ए, सी और ई सहित एंटीऑक्सीडेंट पर्याप्त मात्रा में मौजूद हों।

सस्ते के चक्कर में ना पड़कर हमेशा किसी विश्वसनीय ब्रांड की अच्छी नाइट क्रीम ही चुनें।

(सौन्दर्य विशेषज्ञ ऋतु ठाकुर से बातचीत पर आधारित)

ऐप पर पढ़ें