ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंडफर्जी साइन कर सास के खाते से लाखों रुपए निकाले, मायके की कार भी बेच डाली; थाने पहुंची पत्नी

फर्जी साइन कर सास के खाते से लाखों रुपए निकाले, मायके की कार भी बेच डाली; थाने पहुंची पत्नी

पत्नी रूमी दुबे ने थाने को दिए गए आवेदन में कहा है कि प्रियरंजन से उनका विवाह 2020 में हुआ था। शादी से पहले दहेज के रूप में दस लाख नगदी के अलावा सोने व चांदी के जेवरात लिया था।

फर्जी साइन कर सास के खाते से लाखों रुपए निकाले, मायके की कार भी बेच डाली; थाने पहुंची पत्नी
Devesh Mishraहिन्दुस्तान,रांचीWed, 15 May 2024 06:53 AM
ऐप पर पढ़ें

एक शख्स ने फर्जी साइन कर अपनी पत्नी की मां के खाते से लाखों रुपए निकाल लिए। उसने अपने मायके की कार भी बेच डाली। शख्स की पत्नी रूमी दुबे ने पति पर दहेज के लिए प्रताड़ित करने और धोखाधड़ी कर पैसे हड़पने का आरोप लगाया है। इस संबंध में रूमी दुबे ने पति प्रियरंजन दुबे के खिलाफ जगन्नाथपुर थाने में नौ मई को प्राथमिकी दर्ज करायी है। यह झारखंड के हटिया की घटना है।

दहेज के लिए करने लगा प्रताड़ित
पत्नी रूमी दुबे ने थाने को दिए गए आवेदन में कहा है कि प्रियरंजन से उनका विवाह 2020 में हुआ था। शादी से पहले दहेज के रूप में दस लाख नगदी के अलावा सोने व चांदी के जेवरात लिया था। शादी के बाद कुछ दिन तक उनके पति का बर्ताव ठीक रहा था। बाद में दहेज के लिए वह उसे प्रताड़ित करने लगा। इसी बीच उनकी बहन ने बोकारो में एक फ्लैट बुक कराया, जिसे उसने रद्द करा दिया।

खाते से पैसे निकाले, कार भी बेच डाली
इसी क्रम में प्रियरंजन ने उनकी मां का फर्जी साइन कर उनके खाते से 12.50 लाख रुपए निकाल लिया। आरोपी ने उनके मायके की कार को भी बेचकर उसका पैसा रख लिया। किसी भी बात का विरोध करने पर आरोपी मारपीट किया करता था। हाल के दिनों ने आरोपी ने उनकी पुत्री को भी प्ले स्कूल से निकलवाने की धमकी दी। इसके बाद वह थाने पहुंचकर मामला दर्ज करायी। पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है।

यह भी जानिए: महिला की मौत पर परिजनों का हंगामा
वहीं एक दूसरे मामले में रांची के सुखदेवनगर थाना क्षेत्र के देवी मंडप रोड में चौधरी नर्सिंग होम में इलाज के लिए भर्ती महिला मरीज कौशल्या देवी की मंगलवार को मौत हो गई। महिला की मौत मामले में परिजनों ने इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए हो-हल्ला किया और मुआवजा समेत दोषी डॉक्टर पर कार्रवाई की मांग की।

घटना की जानकारी मिलने पर सुखदेवनगर थाना पुलिस मौके पर पहुंची और गुस्साए परिजनों समेत अन्य लोगों को समझा-बुझाकर मामले को शांत कराया। इस संबंध में मृत महिला कौशल्या देवी के पति पंचानन मिश्रा की लिखित शिकायत पर थाना में डॉ अर्चना चौधरी समेत अन्य के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज की गई है। दर्ज मामले में पंडरा ओपी क्षेत्र के लक्ष्मीनगर निवासी पंचानन मिश्रा ने बताया है कि पत्नी कौशल्या ने सुबह में पेट दर्द की शिकायत की। इसके बाद उन्हें इलाज के लिए चौधरी नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया। वहां पर डॉ अर्चना ने महिला के स्वास्थ्य की जांच की और कुछ दवाइयां दी। इसके बाद मरीज को स्लाइन चढ़ाया गया। इसी में एक सूई भी दी गई। इसके प्रभाव से कुछ ही देर में महिला मरीज का प्राणांत हो गया। इसके बाद परिजनों ने इलाज में लापरवाही बरतने और गलत इंजेक्शन लगाने का आरोप लगाया। घटना के संबंध में जब नर्सिंग होम के प्रबंधन से जुड़े डॉ पंकज चौधरी से रात नौ बजे तक मोबाइल पर बातचीत करने का प्रयास किया गया, लेकिन उनका मोबाइल कॉल फारवार्डेड बताता रहा। सुखदेवनगर थाना पुलिस ने मामला दर्ज होने के बाद शव को अपने कब्जे में कर दोपहर बाद पोस्टमार्टम के लिए रिम्स भेज दिया है। इधर केस दर्ज होने के बाद पुलिस मामले की गहराई से छानबीन में जुटी है।