Will not be formed now: Harmu and Ratu road flyovers will now cross the top - नहीं बनेगा गोलंबर अब हरमू और रातू रोड फ्लाईओवर अब ऊपर नीचे क्रॉस करेंगे DA Image
12 नबम्बर, 2019|9:04|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नहीं बनेगा गोलंबर अब हरमू और रातू रोड फ्लाईओवर अब ऊपर नीचे क्रॉस करेंगे

हरमू फ्लाईओवर और रातू रोड फ्लाईओवर अब एक-दूसरे को ऊपर-नीचे से क्रॉस करेंगे। रातू रोड चौराहे के ऊपर गोलंबर बनाकर दोनों को एक-दूसरे से पार कराने की योजना स्थगित कर दी गई है। पथ निर्माण विभाग ने गोलंबर बनाकर हरमू और रातू रोड फ्लाईओवर को पार कराने पर आपत्ति की है। इसे सुधार कर ऊपर-नीचे से गुजारने के लिए कहा है। नगर विकास विभाग ने इस प्रस्ताव पर सहमति दे दी है।
नगर विकास विभाग ने मेकॉन को नए सिरे से डिजाइन और डीपीआर तैयार करने का निर्देश दिया है। इसमें दोनों फ्लाईओवर को एक-दूसरे के नीचे से गुजारने का तकनीकी स्वरूप देने के लिए कहा गया है। मेकॉन से इसका समाधान नहीं निकलने पर नगर विकास विभाग ने वर्ल्ड बैंक को कंसल्टेंट सुझाने के लिए प्रस्ताव भेजने की योजना बनाई है। ज्ञात हो कि मेकॉन ने हाल ही में राजभवन के पास से कार्तिक उरांव चौक तक थ्री लेन फ्लाईओवर का संशोधित डीपीआर तैयार किया है। 
 

जुडको करा रहा है निर्माण
हरमू फ्लाईओवर के निर्माण का जिम्मा जुडको को सौंपा गया है। रातू रोड फ्लाईओवर का निर्माण भारतीय राजमार्ग प्राधिकरण के जिम्मे है। रातू रोड फ्लाईओवर का टेंडर हो चुका है। हरमू फ्लाईओवर का टेंडर सुप्रीम नामक कंपनी को दिया गया था जिसे बाद में रद्द कर दिया गया।
 

लगातार बदलती रही लागत
2015 में राज्य मंत्रिपरिषद ने हरमू फ्लाईओवर के निर्माण के लिए 330 करोड़ की मंजूरी दी थी। इसमें 164 करोड़ फ्लाईओवर के निर्माण के लिए था। बाद में इस फ्लाईओवर की चौड़ाई घटाकर 13 मीटर कर दी गई। इसलिए संशोधित डीपीआर में इसकी लागत 186 करोड़ हो गई।
 

दो साल से फाइलों में फंसी है परियोजना
हरमू फ्लाईओवर और रातू रोड फ्लाईओवर परियोजना पिछले दो साल  से फाइलों में फंसी है। सबसे पहले डिजाइन में दो फ्लाईओवर को क्रॉस कराने का प्रावधान नहीं होने के कारण समस्या हुई। इन्हें एक-दूसरे के ऊपर  से पार कराया जाए या ऊपर में गोलंबर बनाकर गुजारा जाए, इसे लेकर तकनीकी कठिनाई पैदा हो गई। उसके बाद राजभवन की बाउंड्री तोड़ने के प्रस्ताव को लेकर कई तरह के मुद्दे उठे। जमीन अधिग्रहण भी हरमू फ्लाईओवर की राह  में रोड़ा अटकाता रहा। आखिरकार चौड़ाई को फोरलेन की जगह थ्रीलेन कर इसका समाधान निकाला गया। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Will not be formed now: Harmu and Ratu road flyovers will now cross the top