ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News झारखंड'हम सभी हेमंत सोरेन के साथ', महागठबंधन के बोले विधायक; सीएम ने कहा-अफवाहों पर नहीं दें ध्यान

'हम सभी हेमंत सोरेन के साथ', महागठबंधन के बोले विधायक; सीएम ने कहा-अफवाहों पर नहीं दें ध्यान

विधायकों ने हेमंत से कहा कि वह मुख्यमंत्री हैं और आगे भी रहेंगे। इसपर सीएम सोरेन ने कहा कि यह सरकार आपना कार्यकाल मजबूती से जनता की सेवा करते हुए पूरा करेगी।

'हम सभी हेमंत सोरेन के साथ', महागठबंधन के बोले विधायक; सीएम ने कहा-अफवाहों पर नहीं दें ध्यान
Swati Kumariहिन्दुस्तान,रांचीWed, 03 Jan 2024 11:15 PM
ऐप पर पढ़ें

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की अध्यक्षता में सत्तारूढ़ महागठबंधन ने एकजुटता दिखाकर संख्या बल का शक्ति प्रदर्शन किया। मुख्यमंत्री के कांके रोड स्थित आवास पर बुधवार को हुई सत्तारूढ़ गठबंधन के घटक दलों के विधायकों की बैठक में ताजा राजनीतिक परिस्थितियों पर विचार-विमर्श हुआ। इस दौरान मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के पक्ष में विधायकों ने एकजुटता दिखाई तो उन्होंने भी भरोसा दिलाया कि सबको साथ लेकर चलेंगे। सीएम ने सबका साथ मांगा।

इस पर सभी विधायकों ने एक स्वर में कहा कि वे उनके साथ हैं। विधायकों ने हेमंत से कहा कि वह मुख्यमंत्री हैं और आगे भी रहेंगे। इसपर सीएम सोरेन ने कहा कि यह सरकार आपना कार्यकाल मजबूती से जनता की सेवा करते हुए पूरा करेगी। मुख्यमंत्री ने पूरे घटनाक्रम से सभी को अवगत कराया। 

सीएम से विधायकों ने कहा कि वे हमेशा उनके साथ हैं और आगे भी बने रहेंगे। किसी भी तरह की स्थिति में वे सभी पूरी तरह एकजुट हैं। मुख्यमंत्री और राज्य सरकार के खिलाफ किसी भी तरह की साजिश को सफल नहीं होंगे। उन्होंने यह भी कहा कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में राज्य सरकार विकास और जनहित में लगातार कार्य कर रही है और यह निरंतर जारी रहेगा।

सूत्रों के मुताबिक सत्तारूढ़ दलों के विधायकों को सुझाव दिया गया है कि ताजा राजनीतिक परिस्थिति के मद्देनजर वे अगले एक सप्ताह तक रांची में ही रहें। खासतौर पर संताल जैसे दूर क्षेत्र के विधायकों से एहतियातन ये बातें कही गई है। हेमंत सोरेन ने विधायकों को स्पष्ट कहा कि अफवाहों पर बिल्कुल ध्यान नहीं देना है। इस्तीफा देने का सवाल ही नहीं उठता। 

बैठक में गांडेय से इस्तीफा देने वाले झामुमो विधायक डा. सरफराज अहमद मौजूद रहे। सूत्रों के अनुसार उनके इस्तीफे को बलिदान बता कर हेमंत ने कहा कि ऐसा अवसर बहुत कम आता है। बहुत कम लोग ऐसा कर पाते हैं। इसे हमेशा याद किया जाएगा। भविष्य में इसका उपयोग होगा। सरफराज के कदम की सभी ने सराहना की।  

जानकारी के अनुसार बैठक में झामुमो विधायक लोबिन हेम्ब्रम नहीं आए और चमरा लिंडा शामिल नहीं हो सके। लोबिन हेम्ब्रम कई महीनों से नाराज चल रहे हैं। पिता के निधन के कारण कांग्रेस विधायक दीपिका पांडेय सिंह अनुपस्थित रहीं और पूर्णिमा नीरज सिंह सूचना देकर असमर्थता जताई थी। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें