ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंडदो दोस्तों को एक साथ होने लगी उल्टी, फिर दोनों की मौत; तीसरा साथी घटना से भयभीत

दो दोस्तों को एक साथ होने लगी उल्टी, फिर दोनों की मौत; तीसरा साथी घटना से भयभीत

यह भी बताया जा रहा है को उसके साथ गए तीसरे साथी भी घटना से भयभीत होकर अपना इलाज कराया। घटना को लेकर लोगों मे यह भी चर्चा है कि दोनों की मौत अत्यधिक शराब पीने से हुई है।

दो दोस्तों को एक साथ होने लगी उल्टी, फिर दोनों की मौत; तीसरा साथी घटना से भयभीत
Devesh Mishraहिन्दुस्तान,मरकच्चोMon, 29 Apr 2024 08:11 AM
ऐप पर पढ़ें

झारखंड में दो युवको की संदिग्ध अवस्था में हुई अचानक मौत से पूरे इलाके में सन्नाटा पसरा है। मामला शुक्रवार के शाम का बताया जा रहा है। मृतक की पहचान देवीपुर निवासी 40 वर्षीय सुदामा पासवान व दूसरा 30 वर्षीय रोहित पासवान के रूप मे की गयी है। जानकारी अनुसार दोनों युवक अन्य साथियों के साथ शुक्रवार की शाम घर के आसपास घूमने के लिए निकले थे। इसी दौरान देर शाम को घर पहुंचते ही कुछ देर बाद सुदामा पासवान को उल्टी होने लगा और देखते ही देखते कुछ देर बाद उसने दम तोड़ दिया। यह वलशाही थाना क्षेत्र के ग्राम पंचायत देवीपुर की घटना है।

वहीं उसके दूसरे साथी रोहित राम को भी उल्टी आने लगी, जिसे देख परिजन इलाज के लिए अस्पताल ले गए, लेकिन देर रात उसने भी दम तोड़ दिया। घटना के बाद परिजनों ने गांव के स्थानीय मुक्तिधाम मे उनका अंतिम संस्कार कर दिया। हालांकि एक साथ दोनों के संदिग्ध अवस्था मे हुई मौत पूरे गांव मे चर्चा के विषय बना हुआ है।

तीसरे साथी ने भी घटना से भयभीत होकर कराया इलाज
यह भी बताया जा रहा है को उसके साथ गए तीसरे साथी भी घटना से भयभीत होकर अपना इलाज कराया। घटना को लेकर लोगों मे यह भी चर्चा है कि दोनों की मौत अत्यधिक शराब पीने से हुई है। समाचार लिखे जाने तक पुलिस को इसकी कोई जानकारी नहीं थी

यह भी जानिए: गंभीर घायल युवक को इलाज के लिए नहीं मिले डॉक्टर
वहीं एक दूसरे मामले में सतगावां थाना क्षेत्र के पेट्रो जलप्रपात में रविवार को आपसी विवाद में हुई जमकर मारपीट में युवक गंभीर रूप से घायल हो गया। गंभीर घायल युवक की पहचान मरचोई निवासी सोनू कुमार, उम्र 24 साल के रूप में हुई है। मरचोई पंचायत मुखिया उत्तम सिंह के अनुसार जब उन्हें सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया तो वहां एक भी डॉक्टर डयूटी पर तैनात नहीं थे। इसके कारण घायल दो-तीन घंटा तड़पता रहा। घायल व्यक्ति से मिलने आए मुखिया उत्तम सिंह समेत अन्य ने भी डॉक्टर के प्रति रोष व्यक्त किया और कहा कि ऐसे डॉक्टर की लापरवाही से कई लोगों का जान जा सकती है।

सुदूरवर्ती प्रखंड में अवस्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, जहां लगभग चार से पांच डॉक्टर पदस्थापित हैं। लेकिन प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी की लापरवाही के कारण एक भी डॉक्टर या प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी भी खुद फरार रहते हैं। इससे कई बार मरीजों को घंटों तड़पना पड़ता है। स्थानीय मुखिया ने डॉक्टरों की तैनाती की मांग की है। समाचार लिखे जाने तक करीब दो घंटे के बाद प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ आशीष चौधरी नवादा से चलकर आए। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचकर गंभीर रूप से घायल सोनू कुमार का प्राथमिक इलाज किया। आपसी विवाद की घटना को लेकर अभी तक कोई भी आवेदन थाना में नहीं दी गई। इस संबंध में प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ रामाशीष चौधरी ने कुछ भी बताने से इनकार कर दिए।