ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंडनशे की खुराक नहीं मिलने से था परेशान, झारखंड में युवक ने फांसी लगाकर दी जान

नशे की खुराक नहीं मिलने से था परेशान, झारखंड में युवक ने फांसी लगाकर दी जान

आसपास के लोगों को इसकी जानकारी होने पर घर पहुंचे और आनन फानन में उसे सदर अस्पताल लाया। जहां चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना के समय घर पर कोई सदस्य नहीं था।

नशे की खुराक नहीं मिलने से था परेशान, झारखंड में युवक ने फांसी लगाकर दी जान
Devesh Mishraहिन्दुस्तान,चतराMon, 03 Jun 2024 09:14 AM
ऐप पर पढ़ें

झारखंड के चतरा के नगवां मुहल्ला में नशे की लत में पड़े एक युवक की जान चली गई। उसने फांसी लगा कर आत्महत्या कर लिया। युवक सचिन वर्मा (19) पिता प्रमोद वर्मा नगवां मुहल्ला का रहने वाला था। बताया जा रहा है कि उसे नशे की लत थी। नशे की खुराक नहीं मिलने से परेशान होकर उसने कमरे के अंदर जाकर फांसी के फंदे में लटक कर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। हालांकि मौत के स्पष्ट कारणों का पता नहीं चल पाया है।

आसपास के लोगों को इसकी जानकारी होने पर घर पहुंचे और आनन फानन में उसे सदर अस्पताल लाया। जहां चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना के समय घर पर कोई सदस्य नहीं था। आसपास के लोगों ने इसकी जानकारी परिजनों को दिया। घटना से परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। बता दें कि शहर में इन दिनों नशा करने वाले युवाओं की संख्या बढ़ गई है। कई युवक ब्राउन शुगर, गांजा आदि की लत में पड़ कर अपना जीवन बर्बाद कर रहे हैं। नशे की खुराक नहीं मिलने के कारण विक्षिप्त की तरह करते हैं। पूर्व में भी नशे की खुराक नहीं मिलने के कारण कई युवकों ने आत्महत्या कर चुके हैं। शहर में दिन प्रतिदिन नशे का कारोबार फल फूल रहा है। सफेदपोश मोटी रकम कमा रहे हैं।

पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई नहीं होने से सफेदपोश व तस्करो का मनोबल बढ़ा हुआ है। दिनदहाड़े ब्राउन शुगर की पुड़िया की खरीद बिक्री की जा रही है, लेकिन पुलिस को भनक तक नहीं मिल रही हैं। तस्कर मालामाल हो रहे हैं तो वहीं युवा वर्ग नशे की दलदल में फंसकर अपना भविष्य बर्बाद कर रहे हैं। परिजन परेशान हैं हर रोज परिजन थाना पहुंचकर अपने बेटे को पकड़ने की गुहार लगा रहे हैं, लेकिन पुलिस कोई ध्यान नहीं दे रही हैं।

नशे के कारण बढ़ गई है आपराधिक घटनाएं
नशे का सबसे ज्यादा शिकार युवा वर्ग हो रहा हैं। युवा नशे की चपेट में आसानी से आ जाते हैं। नशे के कारण ही कई घर बर्बाद हो चुके हैं। महंगे नशे करने की लत लगने के बाद जब पैसे के अभाव में नशा नहीं मिल पाता हैं तो अपनी लत पूरी करने के लिए अपराध की ओर रूख करने से भी नहीं हिचकाते हैं। ऐसा कई मामले आ चुके हैं कि नशे की लत पूरी करने के लिए मोबाईल छिनतई, घरो में चोरी जैसे घटनाएं हो रही हैं। क्षेत्र में आपराधिक घटनाएं भी बढ़ गई है।