ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News झारखंडझारखंड की प्रसिद्ध तीर्थस्थली के महंत रामशरण दास को जान से मारने की धमकी, धाम छोड़ने की चेतावनी

झारखंड की प्रसिद्ध तीर्थस्थली के महंत रामशरण दास को जान से मारने की धमकी, धाम छोड़ने की चेतावनी

झारखंड की प्रसिद्ध तीर्थस्थली श्रीरामरेखाधाम के महंत रामशरण दास को बदमाशों ने जान से मारने की धमकी दी है। बदमाशों ने महंथ को धाम छोड़ने की चेतावनी दी है। पुलिस को घटना से अवगत कराया गया है।

झारखंड की प्रसिद्ध तीर्थस्थली के महंत रामशरण दास को जान से मारने की धमकी, धाम छोड़ने की चेतावनी
Krishna Singhहिंदुस्तान,झारखंडMon, 25 Sep 2023 10:51 PM
ऐप पर पढ़ें

झारखंड की प्रसिद्ध तीर्थस्थली और लाखों लोगों की आस्था का केंद्र श्रीरामरेखाधाम के महंत रामशरण दास को बदमाशों ने जान से मारने की धमकी दी है। महंत रामशरण दास ने बताया कि रविवार की रात करीब एक बजे वे लघुशंका के लिए निकले थे। तभी कुछ लोगों ने उनको टार्च जलाकर रोका और तत्काल धाम छोड़ने की चेतावनी देते हुए जान से मारने की धमकी दी। धमकी देने के बाद अपराधी भाग गए। महंत ने तुरंत घटना की जानकारी धाम में ही रहने वाले अन्य पुरोहितों को दी। सोमवार को पुलिस घटना से अवगत कराया गया। 

एसडीपीओ डेविड ए ढोढराय, इंस्पेक्टर रामानुज वर्मा, थानेदार रंजीत कुमार आदि रामरेखाधाम समिति के पदधारियों के साथ पहुंचे। पुलिस अधिकारियों ने महंत रामशरण दास से घटना की पूरी जानकारी ली। इसके बाद घटनास्थल का भी निरीक्षण किया। पुलिस अधिकारियों ने कहा कि पूरे मामले की गंभीरता से जांच की जा रही है। दोषी लोगों की पहचान करने का प्रयास किया जा रहा है। इधर, रामरेखाधाम समिति के सचिव ओमप्रकाश साहू ने भी प्रशासन से मामले की जांच कराकर दोषियों पर कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है।

हालांकि देर शाम तक समिति और महंत के द्वारा थाने में कोई लिखित शिकायत नहीं की गई है। प्रसिद्ध तीर्थस्थली रामरेखाधाम के महंत को धमकी दिए जाने की घटना की सभी लोगों ने निंदा की है। भाजपा जिलाध्यक्ष लक्ष्मण बड़ाईक, पूर्व मंत्री विमला प्रधान, सांसद प्रतिनिधि सुशील श्रीवास्तव ने दोषी लोगों पर कार्रवाई की मांग करते हुए रामरेखाधाम में पुलिस पिकेट बनाने की भी मांग की है।

सांसद प्रतिनिधि सुशील श्रीवास्तव ने कहा कि आस्था पर अपमान बदार्शत नहीं किया जाएगा। इधर सिमडेगा विधायक भूषण बाड़ा ने भी घटना की निंदा करते हुए पुलिस प्रशासन को रामरेखाधाम में पुलिस गश्ती बढ़ाने का निर्देश दिया है।  

सिमडेगा कांवरिया सेवा संघ, हिंदू बिग्रेड, कांग्रेस के प्रदेश महासचिव अनूप केसरी ने भी घटना की निंदा की है। एसपी सौरभ कुमार ने कहा कि महंत को धमकी दिए जाने की सूचना मिलते ही पुलिस पूरी तरह से गंभीर है। एसडीपीओ सहित कई पुलिस अधिकारी को जांच के लिए भेजा गया था। पुलिस हर बिंदु पर गहनता पूर्वक जांच कर रही है। एसपी ने कहा कि महंत और समिति के द्वारा लिखित शिकायत नहीं की गई है। मामला संज्ञान में आते ही पुलिस जांच में जुट गई है।

झारखंड में रामरेखाधाम ही एक मात्र स्थल है, जहां भगवान श्रीराम के आने के प्रमाण मिले हैं। मान्यता के अनुसार, त्रेता युग में भगवान श्रीराम वनवास के क्रम में माता सीता और भाई लक्ष्मण के साथ रामरेखाधाम की पहाड़ी में करीब एक माह का समय गुजारा था। वर्तमान में केंद्र सरकार भी रामरेखाधाम को राम सर्किट से जोड़ने का प्रस्ताव तैयार किया है। वहीं राज्य सरकार ने भी रामरेखाधाम को पर्यटन के श्रेणी वन में जगह देते हुए धाम के विकास के लिए पहल शुरू की है।

विधानसभा चुनाव 2023 के सारे अपड्टेस LIVE यहां पढ़े