ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंडझारखंड में बैंक मैनेजर के घर लाखों की चोरी, अलमारी से गहने गायब; पेंटर पर शक

झारखंड में बैंक मैनेजर के घर लाखों की चोरी, अलमारी से गहने गायब; पेंटर पर शक

बैंक मैनेजर ने बताया कि 15 जून की दोपहर तीन बजे घर में कोई नहीं था। उसी दिन कैश समेत लाखों रुपए के गहने चोरी हो गए। उन्होने दो संदिग्ध लोगों पर घर में चोरी करने का आरोप लगाया है।

झारखंड में बैंक मैनेजर के घर लाखों की चोरी, अलमारी से गहने गायब; पेंटर पर शक
Devesh Mishraहिन्दुस्तान,देवघरMon, 17 Jun 2024 12:02 PM
ऐप पर पढ़ें

झारखंड में एक बैंक मैनेजर के घर से लाखों की चोरी का मामला सामने आया है। घर से कैश और गहने दोनों गायब हैं। बैंक मैनेजर की पहचान दिवाकांत ठाकुर के रूप में हुई है। वह एसबीआई मधुपुर शाखा के ब्रांच मैनेजर हैं। उन्होंने दो संदिग्धों पर घर में चोरी करने की प्राथमिकी दर्ज कराई है। यह देवघर जिले के मधुपुर थाना क्षेत्र की घटना है।

बैंक मैनेजर ने बताया कि 15 जून की दोपहर तीन बजे घर में कोई नहीं था। उसी दिन कैश समेत लाखों रुपए के गहने चोरी हो गए। उन्होने दो संदिग्ध लोगों पर घर में चोरी करने का आरोप लगाया है, जिसमें रिखिया थाना के एक गांव निवासी उपेन्द्र यादव व शशि कुमार को आरोपी बनाया है।

कैश और गहने गायब
एफआईआर में कहा गया है कि शाखा प्रबंधक दिवाकांत ठाकुर का वर्तमान पदस्थापन मधुपुर एसबीआई हो गया है। जहां वह अपने मित्र पिंकु कुमार सिंह की स्विफ्ट गाड़ी को रिजर्व कर आना-जाना करते हैं। वहीं कुछ दिनों पूर्व पत्नी व बच्चे की तबीयत खराब होने के कारण पत्नी आने मायके दुमका जिले के बासुकीनाथ चली गई है। घर में कोई नहीं रहने के कारण 15 जून की सुबह वे अपनी ड्यूटी गए थे। रात 9 बजे घर वापस आने पर घर की अलमारी का लॉक टूटा था। घर के अंदर सभी सामान बिखरा पड़ा था। जब कैश व अन्य जेवरात को मिलाया तब पता चला कि घर से 2-3 लाख रुपए नकदी व सोने की एक चेन, कानबाली बच्चे की 5 जोड़ा, कान बाली बड़े लोगों का 3 जोड़ा, नाक का नथिया 1, अंगूठी 3 पीस, पायल बच्चे का 5 जोड़ा, सोने के लॉकेट बच्चे का- 2 पीस, बड़े लोगों की पायल- 2 पीस के अलावा अन्य सामान नहीं मिले।

पेंटर पर शक
बैंक मैनेजर ने बताया कि कुछ दिनों पूर्व घर का रंग रोगन के लिए ठेका संदिग्ध आरोपी उपेन्द्र यादव को दिया था। उसे घर के बारे में पूरी जानकारी थी। उसके साथ काम करने आने वाले संदिग्ध शशि कुमार पर भी संदेह जताया है। बताया कि रंग रोगन के दौरान संदिग्ध लोगों पर चोरी का आरोप लगा था। पकड़े जाने पर एक संदिग्ध ने माफी मांगी थी। वहीं थाना प्रभारी राजीव कुमार ने मामले की जांच पड़ताल कर दोनों संदिग्धों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।   

Advertisement