DA Image
1 जून, 2020|12:22|IST

अगली स्टोरी

वीडियो : दुमका जिले में लॉकडाउन के दूसरे दिन 23 मार्च जैसे नहीं दिखी अफरातफरी

दुमका जिले में लॉकडाउन के दूसरे दिन मंगलवार को अपेक्षाकृत अफरातफरी सोमवार जैसी नहीं दिखी। सब्जी मार्केट और किराना दुकानों में सुबह से लोग पहुंचे और खाद्य सामग्रियों की खरीदारी की।
सिविल एसडीओ राकेश कुमार ने सब्जी के थोक बिक्रेताओं के साथ बैठक कर बाजार सामिति के निर्धारित दर पर ही आलू-प्याज और सब्जी बेचने का निर्देश दिया। रामगढ़ सहित जिले के कस्बों में निर्धारित मूल्य से अधिक कीमत ली जा रही है। इधर लॉक डाउन के बावजूद हंसडीहा में सुबह हाट खुला। जिसे बाद में प्रशासन ने बंद करा दिया। जरमुंडी में लॉक डाउन का कोई असर नहीं दिख रहा। लोग सड़कों पर बाइक, साइकिल और वाहनों से यातायात कर रहे हैं। हाट बाजार लग रहे हैं। धारा 144 लागू रहने पर भी एक जगह पांच से अधिक लोग इकट्ठा हो रहे हैं, जिस पर प्रशासन का नियंत्रण नहीं है।
विदेश और देश के कोरोना प्रभावित राज्यों से आने वाले मजदूरों और संक्रमण के संदिग्ध लोगों पर प्रशासन नजर नहीं रख पा रहा। जिन्हें घरों में होम आइसोलेशन में रहने की हिदायत दी गई है, वह भी खुलेआम घूम रहे हैं। इससे गांव और शहर के मुहल्ले के लोग भयभीत महसूस कर रहे हैं।

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:The second day of lockdown in Dumka district did not look like March 23