DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

1.60 करोड़ के इनामी नक्सल दंपति का संगठन को लेकर बड़ा खुलासा, पढ़ें क्या कहा

प्रतिबंधित भाकपा (माओवादी) केंद्रीय समिति के एक प्रमुख सदस्य और उसकी पत्नी के तेलंगाना के पुलिस के समक्ष सरेंडर के बाद बुधवार को दोनों को मीडिया के सामने पेश किया गया। इस दौरान झारखंड के मोस्ट वांटेड नक्सली सुधाकरण और उसकी पत्नी ने संगठन को लेकर कई बड़े खुलासे किए। 

सुधाकरण ने बताया कि झारखंड में नक्सलियों के ईस्टर्न रिजनल ब्यूरो (ईआरबी) के बड़े नेता भ्रष्टाचार में लिप्त हैं। वै पैसे बनाने में लगे हैं और निजी हित में संगठन चला रहे हैं। परिवार के लोगों को लेवी के पैसे से निवेश कराया जा रहा है। 

वहीं नीलिमा ने कहा कि भाकपा माओवादियों में महिला कैडर खुदकुशी कर रही हैं। सुधाकरण व नीलिमा को तेलंगाना डीजीपी ने मीडिया के समक्ष पेश किया। सुधाकरण व झारखंड में एक करोड़ व तेलंगाना में 25 लाख का इनाम था, वहीं नीलिमा झारखंड में 25 लाख, जबकि तेलंगाना में 10 लाख की इनामी थी। 
तेलंगाना पुलिस महानिदेशक एम महेंदर रेड्डी  रेड्डी ने बताया कि सुधाकरण और उसकी पत्नी ने संगठन में चल रही गलत परंपराओं और स्वास्थ्य समस्याओं के कारण यह मार्ग त्याग दिया।  
डीजीपी ने कहा कि सुधाकर के मुताबिक, शीर्ष नेताओं के बीच अंदरूनी मतभेद हैं और स्थानीय आदिवासी नेताओं और तेलंगाना के नेताओं के बीच भी मतभेद हैं। माओवादी महिला कैडर के साथ बुरा व्यवहार करते हैं और उन पर दबाव बनाते हैं। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The big disclosure about the organization of the Rs 1 60 crore National couple read what they said