DA Image
6 दिसंबर, 2020|7:27|IST

अगली स्टोरी

टाटा मोटर्स प्लांट तीन दिन बंद, डेढ़ लाख कामगारों को छुट्टी

tata motors  symbolic image

टाटा मोटर्स प्लांट मेंटनेंस को लेकर 1 अप्रैल से 4 अप्रैल तक बंद कर दिया गया है। इस घोषणा के बाद आदित्यपुर औद्योगिक क्षेत्र में सन्नाटा पसर गया है। करीब छह सौ कंपनियों में कारोबार प्रभावित होने के साथ डेढ़ लाख मजदूरों को छुट्टी दे दी गयी। कंपनी सूत्रों की मानें तो हर रोज 15 करोड़ का कारोबार प्रभावित होगा। वैसे मार्च के शुरू से ही आदित्यपुर औद्योगिक क्षेत्र मंदी की दौर से गुजर रहा था। मार्च में महज 15 दिन ही औद्योगिक क्षेत्र की कंपनियों में काम था।.

वैकल्पिक बाजार के आभाव में बंद होती हैं कंपनियां 

आदित्यपुर औद्योगिक क्षेत्र की अधिकतर कंपनियां टाटा मोटर्स पर निर्भर हैं। विशेषज्ञों की मानें तो टाटा मोटर्स में कुछ भी होता है तो इसका असर आदित्यपुर औद्योगिक क्षेत्र की कंपनियों पर पड़ता है।

चार अप्रैल के बाद मिलेगा शिड्यूल 

टाटा मोटर्स 4 अप्रैल के बाद खुलेगा। इसके बाद ही टाटा मोटर्स द्वारा कंपनियों को शिड्यूल दिया जायेगा। इसमें वे कितनी गाड़ियों का उत्पादन करेंगे, उसी आधार पर पार्ट्स का आर्डर देते हैं। 

कंपनियां हैं तनावग्रस्त 

वर्क ऑर्डर के अभाव में आदित्यपुर औद्योगिक क्षेत्र की करीब चार सौ कंपनियां तनावग्रस्त हैं। इन कंपनियों के संचालक किसी तरह से कंपनी को जीवित रखे हुए हैं। यह खुलासा हाल में ही एक्सएलआरआई के एक शोधकर्ता के शोध से हुआ था।

एनपीए का खतरा बढ़ा

मार्च में कम वर्क ऑर्डर और अप्रैल के शुरुआत से ही टाटा मोटर्स के बंद होने के कारण चार सौ से अधिक कंपनियों को बैंक की देनदारी में परेशानी का सामना करना पड़ेगा। कंपनियों में काम तो महज पांच या 10 दिन ही नहीं होगा, लेकिन इसका असर कई माह के बजट पर पड़ जाता है। इस कारण कई कंपनियां एनपीए में चली जाती हैं। 
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Tata Motors Plans shuts down for three days more than 1 lakh workers are on leave