ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News झारखंडझारखंड में नीट की तैयारी कर रहे छात्र ने की सुसाइड, मामा के घर पंखे से लटकी मिली लाश

झारखंड में नीट की तैयारी कर रहे छात्र ने की सुसाइड, मामा के घर पंखे से लटकी मिली लाश

मृतक सुब्रतो मंडल (18 वर्ष) मूल रूप से तोपचांची के कांडेडीह का रहने वाला था। होनहार और मेधावी होने के कारण उसके मामा धैया के बांधधार निवासी होटल संचालक पंकज मंडल उसे अपने घर में रखते थे।

झारखंड में नीट की तैयारी कर रहे छात्र ने की सुसाइड, मामा के घर पंखे से लटकी मिली लाश
Devesh Mishraहिन्दुस्तान,धनबादWed, 17 Apr 2024 02:16 PM
ऐप पर पढ़ें

माता-पिता बेटे को डॉक्टर बनाना चाहते थे। चाहें भी क्यों न, बेटा होनहार जो था। 10वीं में राजगंज के एक सीबीएसई स्कूल से 94 प्रतिशत अंक हासिल करने के बाद उसने इसी साल 12वीं की परीक्षा दी थी। एक प्रतिष्ठित संस्थान से वह मेडिकल की तैयारी कर रहा था। पांच मई को होने वाली नीट की परीक्षा में वह शामिल होने वाला था, लेकिन कुदरत को कुछ और मंजूर था। मंगलवार की रात उसका शव धैया स्थित उसके मामा घर के कमरे में पंखे के सहारे फंदे से लटकता पाया गया। यह झारखंड के धनबाद जिले की घटना है।

मृतक सुब्रतो मंडल (18 वर्ष) मूल रूप से तोपचांची के कांडेडीह का रहने वाला था। होनहार और मेधावी होने के कारण उसके मामा धैया के बांधधार निवासी होटल संचालक पंकज मंडल उसे अपने घर में रखते थे। नीट की तैयारी के लिए उसे एक संस्थान से स्कॉलरशिप मिली थी। सुब्रतो के पिता रामधनी मंडल पेट्रोल पंप में नोजल मैन हैं, जबकि मां तोपचांची कांडेडीह में ही आंगनबाड़ी सेविका हैं।

बताया जा रहा है कि सुब्रतो हर दिन की तरह अपने कमरे में था। सबको लगा कि वह पढ़ाई कर रहा है, लेकिन रात में उसे फंदे पर लटकता देख मामा घर में चीख-पुकार मच गई। वह दो भाइयों में बड़ा था। घटना की जानकारी पाकर पुलिस मौके पर पहुंची। शव को पोस्टमार्टम के लिए मेडिकल कॉलेज भेजा दिया गया। बताया जा रहा है कि प्रदर्शन के दबाव के कारण वह अवसाद में था और इसी कारण उसने आत्मघाती कदम उठाया। मामा पंकज मंडल ने बताया कि हमने सुब्रतो को डॉक्टर बनाने का सपना देखा था।

यह भी जानिए: ट्रेन की चपेट में आने से व्यवसायी की मौत
डाउन से आ रही नई दिल्ली-हटिया स्वर्ण जयंती एक्सप्रेस की चपेट में आने से गोमो प्लेटफार्फ पर मंगलवार को एक यात्री गंभीर रूप से घायल हो गया। धनबाद ले जाने के क्रम में उसकी मौत भी हो गई। जानकारी के अनुसार बोकारो के एक व्यवसायी अभय चंद्र प्रसाद (52 वर्ष) गोमो प्लेटफार्म पर गंभीर रूप से घायल हो गए थे। घटना के बाद सीवाईएम संजीव कुमार मौके पर पहुंचे और रेल मेडिकल टीम को सूचित किया। रेलवे डॉक्टर अर्शिता ने प्राथमिक उपचार के बाद उक्त व्यक्ति को एनएमएमसीएच धनबाद रेफर कर दिया। इसी दौरान धनबाद ले जाने के दौरान उसकी मौत हो गई। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें