ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंडखाने को लेकर पिता को लाठी से पीटा, पेट पर भी मारा धक्का; थोड़ी देर बाद मौत

खाने को लेकर पिता को लाठी से पीटा, पेट पर भी मारा धक्का; थोड़ी देर बाद मौत

मृतक की बड़ी बहू जतरी देवी ने बताया कि सोमवार सुबह अपने पति रमेश गंझू और ससुर उपेंद्र गंझू के लिए खाना परोस रही थी। इसी बीच खाने को लेकर उसके पति व ससुर के बीच कहासुनी हो गई।

खाने को लेकर पिता को लाठी से पीटा, पेट पर भी मारा धक्का; थोड़ी देर बाद मौत
Devesh Mishraहिन्दुस्तान,बारियातू (लातेहार)Tue, 30 Apr 2024 08:18 AM
ऐप पर पढ़ें

झारखंड में खाने को लेकर एक पिता-पुत्र में विवाद हो गया। गुस्से में बेटा अपने पिता को लाठी से पीटने लगा। उसने उनके पेट पर भी धक्का मारा। इस घटना के कुछ ही देर बाद उनकी मौत हो गई। दरअसल, बारियातू थाना क्षेत्र के बारीखाप गंझू टोला में सोमवार को रमेश गंझू पर अपने पिता उमेश गंझू की लाठी से पीटकर हत्या करने का आरोप लगा है। पुलिस ने दाह-संस्कार के लिए ले जाते वक्त शव को अपने कब्जे में ले लिया और थाने ले गई। पुलिस ने पूरे मामले को संदेहास्पद मानते हुए छानबीन शुरू कर दी है।

पूछताछ के क्रम में मृतक की बड़ी बहू जतरी देवी ने बताया कि सोमवार सुबह अपने पति रमेश गंझू और ससुर उपेंद्र गंझू के लिए खाना परोस रही थी। इसी बीच खाने को लेकर उसके पति व ससुर के बीच कहासुनी हो गई। इसी दौरान उसके पति ने अपने पिता को लाठी से पीटा और लाठी से पेट के आसपास धक्का मार दिया।

इसके बाद ससुर गुस्से से बाहर निकल गए। थोड़ी देर बाद पता चला कि घर के पास निर्माणाधीन शिव मंदिर के पास वे गिरे पड़े हैं। जांच करने पर उन्हें मृत पाया गया। परिजनों ने आशंका जताई कि उपेंद्र को लाठी से अंदरुनी चोट लगी होगी, जिससे उसकी मौत हो गई। आरोपी रमेश फरार है। थाना प्रभारी ने बताया कि सभी पहलुओं को ध्यान में रखकर जांच की जा रही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

यह भी जानिए: दीवार गिरने से महिला की मौत
वहीं लातेहर के चंदवा थाना क्षेत्र के कामता पंचायत अंतर्गत परसाही गांव में सोमवार की दोपहर एक हादसे में दीवार गिरने से दबकर निर्मला देवी नामक महिला की मौत हो गई। प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि अबुआ आवास योजना के तहत निर्मला देवी को भी आवास मिला हुआ था। आवास निर्माण के लिए वो पुराने घर की दीवार को गिरवा रही थी, तभी अचानक से हादसा हो गया और निर्लमा देवी मलबे में दब गई और उसकी दर्दनाक मौत हो गई।

मृतका अपने पीछे 3 बेटा व 2 बेटी को छोड़ गई है। मृतिका के तीनों बेटे दूसरे प्रदेश में काम करते हैं,जिस कारण वह नहीं लौट पाए थे। उनके लौटने के बाद ही मृतका का अंतिम संस्कार मंगलवार को किया जाएगा। इधर घटना के बाद पीड़ित परिवार का रो रो कर बुरा हाल है।