ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंडरांची जमीन घोटाले में शेखर कुशवाहा ने कबूली संलिप्तता, ईडी को बताया कई लोगों के नाम

रांची जमीन घोटाले में शेखर कुशवाहा ने कबूली संलिप्तता, ईडी को बताया कई लोगों के नाम

कोलकाता से फर्जी कागजात बनाकर जमीन हड़पने के मामले में शेखर कुशवाहा ने कई अन्य लोगों के नाम भी बताए हैं, जो जमीन के डील से जुड़े हैं। शेखर को ईडी ने तीन दिनों की रिमांड पर लिया है।

रांची जमीन घोटाले में शेखर कुशवाहा ने कबूली संलिप्तता, ईडी को बताया कई लोगों के नाम
Devesh Mishraहिन्दुस्तान,रांचीSun, 16 Jun 2024 07:25 AM
ऐप पर पढ़ें

रांची जमीन घोटाले में चेशायर होम रोड की 4.83 एकड़ जमीन के फर्जीवाड़े में शेखर कुशवाहा ने अपनी संलिप्तता कबूली है। जमीन कारोबारी शेखर ने पहले दिन की रिमांड में ईडी को बताया है कि वह चेशायर होम रोड स्थित जमीन की डील में प्रियरंजन सहाय, विपिन सिंह समेत अन्य लोगों के साथ शामिल था।

कोलकाता से फर्जी कागजात बनाकर जमीन हड़पने के मामले में शेखर कुशवाहा ने कई अन्य लोगों के नाम भी बताए हैं, जो जमीन के डील से जुड़े हैं। शेखर को ईडी ने तीन दिनों की रिमांड पर लिया है। रांची जोनल ऑफिस में ईडी के अधिकारी शेखर कुशवाहा से पूछताछ कर रहे हैं।

पैसों के निवेश के पहलुओं पर जांच

ईडी ने रांची जमीन घोटाले में गिरफ्तार शेखर कुशवाहा, प्रिय रंजन सहाय, विपिन सिंह, अफसर खान, सद्दाम हुसैन समेत अन्य आरोपियों की संपत्ति व उनके निवेश की जानकारी जुटानी शुरू कर दी है। आरोपियों ने जमीन की डील में फर्जीवाड़ा कर कितने पैसे बनाए, उन पैसों का निवेश कहां किया, ईडी अब इसकी जांच में जुटी है।

ईडी ने तेज की कार्रवाई

जानकारी के मुताबिक, पैसों का निवेश बीएड कॉलेज, रिसॉर्ट व अचल संपत्ति में ही दूसरे शहरों में किए जाने की जानकारी मिली है। ईडी के द्वारा जल्द ही बरियातू के चेशायर होम रोड स्थित 4.83 एकड़ जमीन को जब्त भी करेगी, इसे लेकर ईडी ने कार्रवाई तेज कर दी है।

पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से जुड़े बड़ंगाई अंचल के अधीन 8.86 जमीन के मूल रैयत राजकुमार पाहन की अग्रिम जमानत याचिका पर सुनवाई अब छह जुलाई को होगी। शनिवार को इस मामले में दोनों पक्षों की ओर से बहस शुरू हुई।

अगली सुनवाई के लिए छह जुलाई की तिथि निर्धारित की गई है। इस मामले में ईडी राजकुमार को भी आरोपी बनाते हुए उसके खिलाफ आरोप पत्र दाखिल कर चुकी है। ईडी की चार्जशीट पर संज्ञान लेते हुए कोर्ट ने उसे समन जारी किया है। गिरफ्तारी से बचने के लिए राजकुमार पाहन ने एक मई को पीएमएलए के विशेष कोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका दायर की है। इस मामले में हेमंत को ईडी ने 31 जनवरी को गिरफ्तार किया था। मामले में 30 मार्च को ईडी ने हेमंत सोरेन समेत पांच के खिलाफ कोर्ट में आरोप पत्र दाखिल किया है। आरोप पत्र में पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, बड़गाईं अंचल के निलंबित उप राजस्वकर्मी भानु प्रताप प्रसाद, जमीन के मूल रैयत राजकुमार पाहन, आर्किटेक्ट बिनोद सिंह और हिलिरियस कच्छप के नाम शामिल हैं। आरोप पत्र दाखिल होने के कुछ दिन बाद ही मामले के एक आरोपी हिलिरियस कच्छप की मौत हो गई थी।