DA Image
Thursday, December 2, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ झारखंडछात्राओं पर लाठी चलाने वाले एसडीओ सुरेंद्र कुमार हटे, रिपोर्ट आने से पहले ही कार्रवाई

छात्राओं पर लाठी चलाने वाले एसडीओ सुरेंद्र कुमार हटे, रिपोर्ट आने से पहले ही कार्रवाई

धनबाद मुख्य संवाददाताYogesh Yadav
Wed, 11 Aug 2021 11:24 PM
छात्राओं पर लाठी चलाने वाले एसडीओ सुरेंद्र कुमार हटे, रिपोर्ट आने से पहले ही कार्रवाई

मंत्री से मिलने गई इंटर फेल छात्राओं पर लाठी चलाने वाले एसडीओ सुरेंद्र कुमार नप गए हैं। सरकार ने उनका यहां से तबादला कर दिया है। उनकी जगह प्रेम कुमार तिवारी धनबाद के एसडीओ बनाए गए हैं। प्रेम तिवारी वर्तमान में रांची में गेल के सक्षम पदाधिकारी हैँ। सुरेंद्र कुमार को एसडीओ धनबाद से पर्यटन कला, खेल-कूद युवा और संस्कृति विभाग, रांची का अवर सचिव बनाया गया है। 

छह अगस्त को राज्य सरकार के स्वास्थ्य मंत्री सह जिले के प्रभारी मंत्री बन्ना गुप्ता धनबाद के दौरे पर थे। डीसी ऑफिस के सभागार में बैठक कर रहे थे। इंटर में फेल छात्राएं उनसे मिल कर फरियाद करने डीसी ऑफिस आये थे। सुरक्षा कर्मियों ने उन्हें मंत्री से मिलने से रोक दिया था। इस पर छात्राएं धरना पर बैठ गई थी। एसडीओ सुरेंद्र कुमार ने उन्हें हटाने के लिए खुद लाठीचार्ज किया था। सड़क पर भी छात्र- छात्राओं को दौड़ा- दौड़ा कर मारा गया था।

इस घटना में आधा दर्जन से अधिक छात्राएं घायल हो गईं थी।  छात्राओं पर लाठीचार्ज करने के बाद सुरेंद्र कुमार विवादों से घिर गए थे। धनबाद जिले के प्रभारी  मंत्री ने मामले की जांच का आदेश दिया था। डीसी संदीप कुमार ने एडीएम विधि- व्यवस्था कुमार ताराचंद को जांच की जिम्मेवारी दी थी। उन्होंने जांच रिपोर्ट सौंप दी थी। लाठीचार्ज का विरोध कर रहे छात्रों पर दूसरे दिन फिर लाठी चली थी। लाठीचार्ज की घटना पर बाल संरक्षण आयोग, दिल्ली ने भी संज्ञान लिया था और डीसी संदीप कुमार से तीन दिनों में रिपोर्ट मांगी थी।

घटना के विरोध में धनबाद बंद का भी आह्वान किया गया था। भाजपा सहित दूसरे दलों ने भी घटना की निंदा की थी और एसडीओ को बर्खास्त करने की मांग की थी। भाजपा ने घटना की जांच के लिए समिति बनाई थी। समिति जांच के लिए धनबाद भी आई थी। नए एसडीओ प्रेमकुमार तिवारी पहले भी इस जिले में पदस्थापित थे। वे झरिया और गोविंदपुर में सीओ के रूप में काम कर चुके हैं।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें