ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News झारखंडहेमंत सोरेन को एक और टेंशन, बिजनेसमैन ने CM समेत 8 पर दर्ज कराई शिकायत; 50 लाख की डिमांड का आरोप

हेमंत सोरेन को एक और टेंशन, बिजनेसमैन ने CM समेत 8 पर दर्ज कराई शिकायत; 50 लाख की डिमांड का आरोप

सूत्रों ने बताया कि मुंगेरी ने इनके विरुद्ध षडयंत्र के तहत अपना हित साधने की नीयत से जबरन वसूली व नाजायज तरीके से लंबे समय तक झूठे मामले में जेल में रखकर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है।

हेमंत सोरेन को एक और टेंशन, बिजनेसमैन ने CM समेत 8 पर दर्ज कराई शिकायत; 50 लाख की डिमांड का आरोप
Abhishek Mishraहिन्दुस्तान,रांचीWed, 03 Jan 2024 08:36 AM
ऐप पर पढ़ें

साहिबगंज के प्रमुख पत्थर कारोबारी प्रकाशचंद्र यादव उर्फ मुंगेरी यादव ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और विधायक प्रदीप समेत आठ लोगों पर गंभीर आरोप लगाए हैं। इस संबंध में मुंगेरी ने 31 दिसम्बर को आठों पर केस दर्ज करने के लिए जिरवाबाड़ी थाना प्रभारी से ऑनलाइन शिकायत की है।

सूत्रों ने बताया कि मुंगेरी ने इनके विरुद्ध षडयंत्र के तहत अपना हित साधने की नीयत से जबरन वसूली व नाजायज तरीके से लंबे समय तक झूठे मामले में जेल में रखकर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है। सूत्रों ने बताया कि मुंगेरी ने शिकायत में हेमंत सोरेन, उनके मीडिया सलाहकार अभिषेक श्रीवास्तव, पोड़ैयाहाट विधायक प्रदीप यादव, पूर्व विधायक राजकिशोर प्रसाद, साहिबगंज डीसी रामनिवास यादव, पूर्व एसपी अनुरंजन किस्पोट्टा, साहिबगंज डीएसपी राजेंद्र दुबे व जिला खनन पदाधिकारी विभूति कुमार के नाम का उल्लेख किया है। इस बीच साहिबगंज एसपी कुमार गौरव ने बताया कि फिलहाल उनके संज्ञान में यह मामला नहीं है, आने पर देखेंगे।

ईडी के गवाह का आरोप 50 लाख रुपए की डिमांड

मुंगेरी ने आरोप लगाया है कि 22-23 जून 2022 को उन्हें शिकायत पत्र में उल्लेखित एक व्यक्ति ने फोन पर कहा कि हाइलेबल पर उनकी हत्या की साजिश रची जा चुकी है। उन्होंने मदद का भरोसा देकर रांची आवास पर बुलाया। जब उनसे मिला तो कहा गया कि आप मामले को शांत कर दीजिए, नहीं तो आपकी जान नहीं बचेगी। उन्होंने जब ऐसा करने से इंकार किया तो अंजाम भुगतने की धमकी दी। बाद में 29 जून को इन लोगों ने रांची में ही उनकी गिरफ्तारी करवा दी।

जब वे जेल में थे तो तीन अधिकारी उनसे मिले और 50 लाख रुपए की व्यवस्था करवा देने की बात कही। यह भी कहा कि अन्यथा उन्हें जेल में ही रहना पड़ेगा। हालांकि उन्होंने रुपए देने से इनकार कर दिया। नतीजतन इनलोगों ने मिलकर झूठे मुकदमे को आधार बनाकर उनके खिलाफ क्राइम कंट्रोल ऐक्ट लगा दिया। सुप्रीम कोर्ट ने इसे अवैध घोषित करते हुए निरस्त कर दिया है। सूत्रों ने बताया कि मुंगेरी यादव ने यह भी आरोप लगाया है कि इस दौरान तीन बार उनसे जेल में आकर उक्त तीनों अधिकारियों ने 50 लाख रुपए की पुन मांग की।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें