DA Image
हिंदी न्यूज़ › झारखंड › व्हाट्सएप पर परेशानियां साझा करेंगी आरपीएफ की महिला जवान, थाना स्तर पर बनेगा ग्रुप
झारखंड

व्हाट्सएप पर परेशानियां साझा करेंगी आरपीएफ की महिला जवान, थाना स्तर पर बनेगा ग्रुप

जमशेदपुर संवाददाताPublished By: Yogesh Yadav
Sat, 24 Jul 2021 12:04 AM
व्हाट्सएप पर परेशानियां साझा करेंगी आरपीएफ की महिला जवान, थाना स्तर पर बनेगा ग्रुप

आरपीएफ में महिला जवानों की समस्या दूर करने के लिए थाना व मंडल स्तर पर अब व्हाट्सएप ग्रुप बनेगा। दक्षिण पूर्व जोन आरपीएफ के आईजी डीबी कसार ने बुधवार को यह आदेश दिया है। यह आदेश टाटानगर, आदित्यपुर, सीनी, चक्रधरपुर चाईबासा व चांडिल समेत रेल मंडल के विभिन्न आरपीएफ थाने में आया है।

आईजी द्वारा जारी पत्र के अनुसार आरपीएफ की महिला जवान और पदाधिकारी बैरक, थाना या ड्यूटी स्थल पर हो रही परेशानियों को व्हाट्सएप ग्रुप में साझा करेंगी। महिला जवानों की समस्या को सुलझाने का जिम्मा आरपीएफ आईजी ने चक्रधरपुर और रांची मंडल में एक इंस्पेक्टर को दिया है। खड़गपुर एवं आद्रा मंडल आरपीएफ में भी एक महिला इंस्पेक्टर नियुक्त की गई है। आईजी द्वारा जारी पत्र के अनुसार आरपीएफ की महिला जवान और पदाधिकारी बैरक, थाना या ड्यूटी स्थल पर हो रही परेशानियों को व्हाट्सएप ग्रुप में साझा करेंगी।

महिला जवानों की समस्या को मंडल स्तर पर आरपीएफ इंस्पेक्टर के पास भेजा जाएगा। दक्षिण पूर्व जोन आरपीएफ के चार मंडल (चक्रधरपुर, रांची, आद्रा व खड़गपुर स्थित 48 थानों) में अभी 646 जवान और 38 महिला पदाधिकारी है। टाटानगर आरपीएफ में ढाई दर्जन से ज्यादा महिला जवानों के लिए अलग से बैरक भी बना है। महिला और बाल सुरक्षा में जवान अभी 24 घंटे स्टेशन पर ड्यूटी करती हैं। आरपीएफ ने मेरी सहेली के साथ नन्हें फरिश्ते टीम में महिला जवानों को शामिल किया है। आरपीएफ की महिला जवान लंबी दूरी की ट्रेनों में एस्कॉर्ट ड्यूटी भी करती हैं।

संबंधित खबरें