DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल्ली में प्लेसमेंट एजेंसी चलाकर झारखंड की बेटियों का सौदा करने वाला मानव तस्कर रोहित मुनी गिरफ्तार

Human racket kingpin arrested (symbolic pic)

दिल्ली में प्लेसमेंट एजेंसी चलाकर झारखंड की बेटियों के सौदे का आरोपी रोहित मुनी पुलिस के हत्थे चढ़ गया है। सिमडेगा पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर रोहित मुनी को बिहार के बांका से गिरफ्तार किया है। सिमडेगा व गुमला के अलग-अलग थानों में दर्ज कांड में झारखंड पुलिस को रोहित मुनी की तलाश थी।

रोहित मुनी अपनी पत्नी प्रभा मुनी के साथ मिलकर दिल्ली के पंजाबी बाग में प्लेसमेंट एजेंसी चलाता था। प्रभा मुनी को सितंबर महीने में दिल्ली एटीएस ने गिरफ्तार किया था। प्रभा मुनी को बाद में सिमडेगा पुलिस ने कोर्ट में पेश किया था, वर्तमान में वह सिमडेगा मंडल कारा में बंद है। रोहित मुनी को गिरफ्तार किए जाने के बाद झारखंड पुलिस उसे रांची ला रही है। रांची के बाद उसे सिमडेगा ले जाया जाएगा।
 

फेसबुक पर दिल्ली के सीएम व कई नेताओं के साथ डाली थी तस्वीरें
रोहित मुनी व उसकी पत्नी प्रभा मुनी झारखंड की लड़कियों को झांसा देने के लिए सोशल साइट का भी इस्तेमाल करते थे। दिसंबर महीने में दिल्ली में कामगारों के मेले की आड़ में ये झारखंड की आदिवासी लड़कियों का सौदा करते थे। राज्य पुलिस की खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल समेत कई नेताओं, पुलिस अफसरों के साथ अपनी तस्वीरें डालकर रोहित मुनी अपनी हाईप्रोफाइल लिंक का झांसा देता था। रोहित मुनी खुद को वोटर्स पार्टी नाम के राजनीतिक दल का प्रदेश अध्यक्ष भी बताता है।

 

स्कूल में एडमिशन का झांसा देकर ले गया था दिल्ली
साल 2012 में कामडारा की दस साल की बच्ची को रोहित मुनी, प्रभा मुनी, गीता, प्रवीण कुमार सिंह व बाबा वामदेव ने गायब कर दिया था। गुमला में दर्ज एफआईआर में जिक्र है कि उनकी बच्ची को कस्तूरबा आवासीय स्कूल कामडारा में एडमिशन की बात कह आरोपित ले गए थे। एक हफ्ते बाद परिजन स्कूल पहुंचे तो पता चला वहां बच्ची का एडमिशन ही नहीं हुआ है। बाद में एनजीओ की मदद से बच्ची को दिल्ली में मुक्त कराया गया था। मुक्त होने के बाद आरोपियों द्वारा बच्ची को बेचे जाने की जानकारी मिली।

 

मौत के पहले नाबालिग ने कहा था दुष्कर्म करता है रोहित मुनी
25 सितंबर को झारखंड की 16 नाबालिग लड़कियों को दिल्ली से रेस्क्यू करा रांची लाया गया था। गोड्डा की 14 वर्षीय एक नाबालिग ने रांची लाए जाने के बाद रोहित मुनी पर सनसनीखेज आरोप लगाए थे। नाबालिग के मुताबिक, रोहित मुनी उसके साथ दुष्कर्म करता था, जबकि उनकी पत्नी प्रभा व बेटी उसे प्रताड़ित किया करते थे। बाद में रिम्स में इलाज के दौरान नाबालिग की मौत हो गई थी।

ये भी पढ़ें: CVC से मिले CBI प्रमुख आलोक वर्मा, भ्रष्टाचार के आरोपों को किया खारिज

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Rohit Muni arrested for trafficking the daughters of Jharkhand by running a placement agency in Delhi