ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ झारखंडझारखंड: पलामू के हरिहरगंज में NH-39 पर भीषण सड़क हादसा, धान काट कर लौट रहे छह मजदूरों की मौत, पांच घायल

झारखंड: पलामू के हरिहरगंज में NH-39 पर भीषण सड़क हादसा, धान काट कर लौट रहे छह मजदूरों की मौत, पांच घायल

पलामू जिले के हरिहरगंज कोर सिटी में शुक्रवार को भीषण सड़क हादसे में धनकटनी कर लौट रहे छह मजदूरों की मौत हो गई जबकि कई अन्य घायल हो गए। हादसा शाम करीब सवा पांच बजे एनएच-139 पर मिडिल स्कूल के ठीक सामने...

झारखंड: पलामू के हरिहरगंज में NH-39 पर भीषण सड़क हादसा, धान काट कर लौट रहे छह मजदूरों की मौत, पांच घायल
Sudhir Jhaहरिहरगंज (पलामू)। प्रतिनिधिFri, 31 Dec 2021 08:48 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/

पलामू जिले के हरिहरगंज कोर सिटी में शुक्रवार को भीषण सड़क हादसे में धनकटनी कर लौट रहे छह मजदूरों की मौत हो गई जबकि कई अन्य घायल हो गए। हादसा शाम करीब सवा पांच बजे एनएच-139 पर मिडिल स्कूल के ठीक सामने हुआ। बताया जाता है कि मजदूरों से भरी पिकअप वैन को सामने से आया एक बेकाबू ट्रक साइड से रगड़ते हुए गुजरा जिससे वैन पर सवार दर्जनभर मजदूर सड़क पर गिर गए। इनमें आधा दर्जन मजदूरों को पीछे से आ रही दूसरी पिकअप वैन ने रौंद दिया। 

बुरी तरह घायल 11 लोगों को घटनास्थल से करीब 100 मीटर दूर हरिहरगंज सीएचसी ले जाया गया। वहां चिकित्सक मो. आसिफ रजा ने जांच के बाद पांकी थाना क्षेत्र के रतनपुर पंचायत अंतर्गत जीरो गांव की रीता कुमारी, कालो कुमारी तथा कमलेश भुइयां को मृत घोषित कर दिया। गंभीर रूप से घायलों में जीरो गांव निवासी बबलू भुइयां, विनोद भुइयां, नीलम कुमारी, बसंती कुमारी, लातेहार के मनिका थाना क्षेत्र स्थित बरबइया पटना निवासी सूर्यबिहारी सिंह, बिंदेश्वर सिंह, अपर्णा कुमारी तथा हरिहरगंज सिटी निवासी चाट कारोबारी दिनेश सिंह को प्राथमिक उपचार के बाद मेदिनीराय मेडिकल कॉलेज अस्पताल रेफर कर दिया गया। हालांकि गंभीर स्थिति के कारण बसंती (17), अर्पणा (14) तथा नीलम (16) को  24 किलोमीटर दूर औरंगाबाद (बिहार) के सदर अस्पताल ले जाया गया जहां इलाज के दौरान तीनों की मौत हो गई। 

हरिहरगंज थाना प्रभारी सुदामा कुमार दास ने बताया कि अन्य घायलों का इलाज चल रहा है। शवों का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंपा जाएगा। उधर, छतरपुर अनुमंडल के एसडीएम नरेन्द्र कुमार गुप्ता ने बताया कि मृत मजदूरों को सरकार की ओर से घोषित मुआवजा और पारिवारिक लाभ योजना से भी लाभान्वित किया जाएगा। घायलों का इलाज निशुल्क करवाने की व्यवस्था की गई है। पिकअप वैन में सवार थे 33 लोग: हादसे का शिकार हुई पिकअप वैन में दो बच्चों समेत 33 लोग सवार थे। वैन में मजदूरी के रूप में मिला धान भी लदा था। गाड़ी में जीरो गांव के 20 मजदूर जबकि बरवइया-पाटन गांव के 11 मजदूर और उनके दो छोटे बच्चे सवार थे। ओवरलोड होने के कारण ट्रक से रगड़ खाते ही एक दर्जन लोग उछलकर नीचे जा गिरे। हादसे में जो मजदूरी बगल की तरफ गिरे वे तो बच गए पर पीछे की तरफ गिरनेवाले दूसरी गाड़ी की चपेट में आ गए।

epaper