ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News झारखंडफिर उसी राह लौटे बागी, पुराने कांग्रेसियों की घर वापसी; 2024 के चुनाव पर कितना असर ?

फिर उसी राह लौटे बागी, पुराने कांग्रेसियों की घर वापसी; 2024 के चुनाव पर कितना असर ?

2024 चुनाव से पहले बागी नेता एक बार फिर कांग्रेस में शामिल हुए हैं। 2019 में चुनाव से पहले कांग्रेस छोड़ने वाले दो पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सुखदेव भगत और प्रदीप बलमुचू समेत कई लोगों की वापसी हुई है।

फिर उसी राह लौटे बागी, पुराने कांग्रेसियों की घर वापसी; 2024 के चुनाव पर कितना असर ?
Abhishek Mishraनिर्भय,रांचीThu, 30 Nov 2023 08:43 AM
ऐप पर पढ़ें

Jharkhand Politics: लोकसभा चुनाव के लिए सभी पार्टियां तैयारी कर रही हैं। कोई सीधे मैदान में उतरने का मन बना रही तो कोई गठबंधन में रास्ता तलाश रही है। कांग्रेस अपने पुराने नेताओं को दो साल से जोड़ने में लगी है। इसका नतीजा यह रहा कि पार्टी छोड़ दूसरे दलों का दामन थामने वाले कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष, पूर्व मंत्री, पूर्व विधायक की भी पार्टी में वापसी हुई है।

कांग्रेस में घर वापसी के बाद अब ये नेता लोकसभा चुनाव और उसके बाद झारखंड विधानसभा चुनाव में अपना दमखम दिखाने को तैयार हैं। कांग्रेस के पुराने नेता जो दूसरे दलों में चले गये थे या फिर राजनीति से दूर हो रहे थे, उन्हें पार्टी से जोड़ने के लिए आ अब लौट चलें अभियान चलाया। इसमें लगातार पार्टी के पुराने नेता-कार्यकर्ता तो जुड़ ही रहे हैं, वैसे लोग भी दामन थाम रहे हैं जो कभी कांग्रेस में नहीं थे।

पार्टी के नेताओं की मानें तो पूर्व अध्यक्षों समेत पूर्व विधायकों को फिर से कांग्रेस में लाने का श्रेय पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर को जाता है। वापसी करने वालों ने भी पार्टी और प्रदेश अध्यक्ष भरोसा जताया, जिसका परिणाम है कि कांग्रेस और मजबूत हो रही है।

2019 में झारखंड विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस छोड़ने वाले दो पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सुखदेव भगत और प्रदीप बलमुचू की कांग्रेस में वापसी हुई। इनके अलावा जमुआ के पूर्व विधायक चंद्रिका महथा की भी घर वापसी हुई। हाल ही में पूर्व मंत्री गीताश्री उरांव भी फिर से कांग्रेस से जुड़ गई हैं। हजारीबाग से चुनाव लड़ चुके मुन्ना सिंह, एआईएमआईएम के ओबान मलिक, दुमका से संजय बेसरा, गिरिडीह से जिला परिषद सदस्य सजदा खातून समेत कई नेता कांग्रेस में शामिल हुए हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें