DA Image
29 मई, 2020|4:18|IST

अगली स्टोरी

झारखंड सहकारिता बैंकों की कमान अब आरबीआई को सौंपने की तैयारी 

झारखंड राज्य सहकारिता बैंक की कमान रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) के हाथों में सौंपने की तैयारी है। इस व्यवस्था में सहकरिता बैंक को आरबीआई की गाइडलाइन के आधार पर अनुसूचित बैंक (शेड्यूल बैंक) में शामिल किया जाएगा। सरकार ने इस संदर्भ में सहकारिता बैंक को शेड्यूल बैंक की श्रेणी में शामिल करने के लिए दिशा-निर्देश दिया है। 

इसके पीछे मुख्य उद्देश्य सहकारिता बैंकों में हो रहे घोटाले को रोकना है। सहकारिता मंत्री बादल ने बताया कि इस पहल के बाद बैंक का सारा लेखा-जोखा आरबीआई को समय-समय पर उपलब्ध कराना होगा। इससे पारदर्शिता बढ़ेगी और घोटेलों पर अंकुश लगेगा। मालूम हो कि अभी तक बैंक में 50 करोड़ से अधिक का घोटाला हो चुका है। फिलहाल बैंक को-ऑपरेटिव सोसाइटी के अंतर्गत संचालित होता है, जिसमें आरबीआई के नियमों को माना जाता है। शेड्यूल बैंक की श्रेणी में आने के बाद सहकारिता बैंक स्थिर बैंक की भी श्रेणी में आ जाएगा।

राज्य सकारिता बैंक की वर्तमान एनपीए (अनार्जक संपत्ति) 35 प्रतिशत से कम है, जबकि इस श्रेणी में शामिल होने के लिए बैंक को पांच प्रतिशत से कम एनपीए होना चाहिए।

35 प्रतिशत एनपीए होने का मतलब है कि बैंक द्वारा दिए गए लोन की भरपाई नहीं हो सकी है। अधिक एनपीए मतलब लोन का रिकवरी रेट कम होना। इस परिस्थिति में सरकार के सामने यह समस्या होगी कि पहले एनपीए दर को कम किया जाए और लोन को समाप्त करने की दिशा में पहल की जाए। फिलहाल सहकारिता बैंक को तीन साल के बाद इस वर्ष करीब 1.5 करोड़ का शुद्ध लाभ हुआ है, जबकि इस श्रेणी में आने के लिए कम से कम तीन साल तक बैंक को शुद्ध लाभ होना चाहिए। 

सहकारिता बैंक का एक पक्ष मजबूत : राज्य सहकारिता बैंक की वित्तीय स्थिति (सीआरएआर) करीब 15 प्रतिशत है, जबकि शेड्यूल बैंक की श्रेणी में आने के लिए सीआरएआर 12 प्रतिशत होना चाहिए। इसके अलावा निवेशकों के सभी तरह के डिपोजिट (एडीटीएल) 750 करोड़ तक होना चाहिए, जो फिलहाल बैंक के पास 1500 करोड़ से अधिक है।  

शेड्यूल बैंक में शामिल होने के बाद क्या होगी जिम्मेवारी : अपने कुल दायित्वों का मिनिमम तीन प्रतिशत आरबीआई में नकद कोषों के रूप में रखना होगा। अभी बैंक राष्ट्रीय बैंक में रखता है, जिसमें उसका खुद का नियंत्रण होता है। आदान-प्रदान की पूरी जानकारी आरबीआई को भेजनी होगी 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Preparing to hand over the command of Jharkhand Cooperative Banks to RBI