DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तैयारी: सड़क सुरक्षा और आपदा प्रबंधन अब स्कूली सिलेबस में शामिल होगा 

राज्य के प्राथमिक और मध्य विद्यालयों में आपदा प्रबंधन की पढ़ाई होगी। अप्रैल 2019 से शुरू होने वाले शैक्षणिक सत्र में बच्चों को किताबें उपलब्ध करा दी जाएंगी, उसमें आपदा प्रबंधन से जुड़ी जानकारियां का समावेश रहेगा। वहीं, सड़क सुरक्षा को लेकर बच्चों में जागरुकता लाने के लिए फोटो फीचर भी दिया जायेगा। झारखंड शिक्षा शोध व प्रशिक्षण संस्थान (जेसीईआरटी) इसकी तैयारी कर रहा है। 

जेसीईआरटी आठवीं तक के पाठ्य पुस्तकों में आपदा प्रबंधन से जुड़ी जानकारियां देगा। इसमें किसी प्रकार की आपदा भूकंप, बाढ़, ठनका से बचने के उपाय बताए जायेंगे। भूकंप आने पर कैसे किसी चीज को पकड़ कर रखना है और सिर को बचाना है आदि जानकारी रहेगी। वहीं, बिजली कड़कने, ठनका की स्थिति में कैसे बचना है, इसकी भी स्कूल में जानकारी दी जायेगी। 

वहीं, सड़क सुरक्षा में सड़क पार करने, सड़क की बायीं ओर चलने, रेड लाइट होने पर सड़क नहीं पार करने संबंधी जानकारी भी फोटो फीचर के जरिये दी जाएगी। स्कूली बच्चों के लिए यह किताबें मार्च तक छपकर स्कूलों में पहुंचा दी जाएंगी, ताकि अप्रैल में शैक्षणिक सत्र शुरू होने के साथ ही उन्हें इसकी आपूर्ति की जा सके। वहीं, पाठ्यपुस्तक में हर अध्याय के साथ क्यूआर कोड भी होगा। इसमें विषय व अध्याय से जुड़े वीडियो, ऑडियो और कंटेंट होंगे। शिक्षक उसे स्कैन कर बच्चों को अच्छे से पढ़ा सकेंगे।

स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा सुनिश्चित की जाएगी
राज्य के सभी सरकारी और निजी स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित की जायेगी। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय इसके लिए गाइडलाइन तैयार कर रहा है। गुड़गांव व नोएडा में स्कूल में हुए हादसे के बाद सभी निजी व सरकारी स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा को लेकर यह गाइडलाइन तैयार की जायेगी। इसे सभी स्कूलों में लागू किया जायेगा।   

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Preparation: Road safety and disaster management will now be included in the school syllabus