ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ झारखंडजमशेदपुर के इस अस्पताल में घुसते ही मरीज हो जाएंगे सेनेटाइज, बना खास चैम्बर

जमशेदपुर के इस अस्पताल में घुसते ही मरीज हो जाएंगे सेनेटाइज, बना खास चैम्बर

जमशेदपुर स्थित महात्मा गांधी मेमोरियल (एमजीएम) मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में एक खास चैम्बर बनाया गया है। इसमें घुसते ही मरीज पूरी तरह सेनेटाइज हो जाएंगे। कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकरण के चलते...

जमशेदपुर के इस अस्पताल में घुसते ही मरीज हो जाएंगे सेनेटाइज, बना खास चैम्बर
Abhishekहिन्दुस्तान,जमशेदपुरSun, 05 Apr 2020 02:27 PM
ऐप पर पढ़ें

जमशेदपुर स्थित महात्मा गांधी मेमोरियल (एमजीएम) मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में एक खास चैम्बर बनाया गया है। इसमें घुसते ही मरीज पूरी तरह सेनेटाइज हो जाएंगे। कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकरण के चलते अस्पताल प्रशासन ने इस चैम्बर को बनाने का निर्णय लिया। एमजीएम अस्पताल में कोरोना के सैंपल लिए जाते हैं और मरीजों के इलाज की भी यहां व्यवस्था है। ऐसे में तमाम लोग टेस्टिंग के लिए आ रहे हैं।

अस्पताल के प्रशासनिक भवन में रजिस्ट्रेशन के लिए घुसने से पहले ही मरीज और तीमारदार सेनेटाइज हो जाएंगे। रविवार को इसका उद्घाटन करने उपायुक्त और एसएसपी पहुंचे। मौके पर जेएनएसी के विशेष पदाधिकारी और एमजीएम अधीक्षक, उपाधीक्षक आदि मौजूद थे। उपायुक्त ने बताया कि यह चैम्बर चारों ओर से प्लास्टिक से ढंका हुआ है। जिसके चारों कोनों पर फव्वारे लगे हैं। इसमें प्रवेश करते ही सेनेटाइजर की फुहार निकलेगी जो महज 5 सेकेंड में व्यक्ति को पूरी तरह सेनेटाइज कर देगी। उपायुक्त ने कहा कि शहर के अन्य जगहों पर भी इस सिस्टम को लगाने का प्रयास किया जा रहा है।

झारखंड में कोरोना के तीन मरीज

वहीं झारखंड में रांची व हजारीबाग के बाद कोरोना का तीसरा पॉजिटिव केस बोकारो जिले में मिला है। चन्द्रपुरा प्रखंड की तेलो निवासी मुस्लिम महिला में कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। बोकारो डीसी मुकेश ने इस बात की पुष्टि की है। प्रशासन के मुताबिक, यह दंपति 15 मार्च को बांग्लादेश से लौटा है। यहां से तीन मुस्लिम दंपति ढांका गए थे। हालांकि वहां से आने के बाद सभी को क्वारंटाइन किया गया था। सैंपल लेकर जांच के लिए भेज दिया गया था। क्षेत्र में कोरोना पॉजिटिव केस आने के बाद पूरा बोकारो जिला प्रशासन महकमा सक्रिया हो गया है। डीसी मुकेश कुमार व एसपी सुजाता कुमारी वीणापाणि तेज ने कइ दिशा निर्देश जारी किए हैं।

epaper