ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंडझारखंड में गैंगस्टर अमन साव के ठिकानों पर NIA का छापा, फॉर्च्यूनर कार समेत क्या-क्या जब्त

झारखंड में गैंगस्टर अमन साव के ठिकानों पर NIA का छापा, फॉर्च्यूनर कार समेत क्या-क्या जब्त

एनआईए रांची की छह सदस्यीय टीम ने संजय प्रसाद के घर पर बुधवार को सुबह 6 बजे से 10.15 बजे तक छापेमारी की। इन चार घंटों के दौरान एनआईए की टीम के सदस्यों ने घर में गहन जांच-पड़ताल की।

झारखंड में गैंगस्टर अमन साव के ठिकानों पर NIA का छापा, फॉर्च्यूनर कार समेत क्या-क्या जब्त
the-properties-belonging-to-four-accused-have-been jpg
Devesh Mishraहिन्दुस्तान,रांचीThu, 20 Jun 2024 06:52 AM
ऐप पर पढ़ें

झारखंड के पलामू जेल में बंद गैंगस्टर अमन साव के खिलाफ एनआईए ने बुधवार को बड़ी कार्रवाई की। एनआईए की टीम ने एक साथ अमन साव के रांची के बुढ़मू के मतवे गांव और हजारीबाग में अमन के सहयोगी संजय प्रसाद साहू के आवास पर छापेमारी की। तेतरियाखाड़ कोलियरी में आगजनी और हिंसा से जुड़े केस में एनआईए की टीम सुबह छह बजे एक साथ इन ठिकानों पर पहुंची थी। रांची के बुढ़मू के मतवे गांव में छापेमारी के बाद एनआईए की टीम अमन साव के फार्च्यूनर कार को जब्त कर अपने साथ ले गई।

एनआईए को क्या-क्या मिला
एनआईए की टीम ने दोनों जगह से डिजिटल उपकरण, बैंक खातों से जुड़ी जानकारी, निवेश से जुड़े पेपर जब्त किए हैं। गौरतलब है कि दिसंबर 2020 में अमन साव, सुजीत सिन्हा के गुर्गों ने तेतरियाखाड़ में फायरिंग की वारदात को अंजाम दिया था। लेवी वसूली के इस मामले को एनआईए ने मार्च 2021 में टेकओवर किया था। एनआईए अबतक कुल 24 लोगों के खिलाफ केस में चार्जशीट कर चुकी है। उधर, हजारीबाग के गिद्दी में भी सुबह संजय प्रसाद के घर पर एनआईए रांची की टीम ने गहन छापेमारी की।

संजय प्रसाद के घर पर भी छापेमारी
एनआईए रांची की छह सदस्यीय टीम ने संजय प्रसाद के घर पर बुधवार को सुबह 6 बजे से 10.15 बजे तक छापेमारी की। इन चार घंटों के दौरान एनआईए की टीम के सदस्यों ने घर में गहन जांच-पड़ताल की। छापेमारी के दौरान संजय प्रसाद के घर को पुलिस ने बाहर से चारों तरफ से घेर रखा था। घर को घेरे पुलिस के जवान किसी को घर के आस-पास नहीं जाने दे रहे थे। पत्रकारों को भी घर के नजदीक आने जाने और तस्वीर खींचने की इजाजत नहीं थी। छापेमारी के दौरान टीम के एक दो सदस्य घर की छत पर भी टहल रहे थे, ताकि आसपास आने-जाने वालों पर नजर रखी जा सके। एनआईए की छापेमारी के संबंध में पूछने पर पर गिद्दी पुलिस ने कहा कि संजय प्रसाद से अपराधी अमन साव के संबंध होने का आरोप हैं, इसको लेकर संजय प्रसाद से एक बार पहले भी एनआईए की टीम ने ऑफिस में बुलाकर पूछताछ कर चुकी है। संजय प्रसाद एनआईए टीम के छापेमारी के दौरान घर पर नहीं थे। बताया गया कि संजय प्रसाद टीम के पहुंचने से पहले घर से निकल चुके थे।

कोयलांचल में छापेमारी को लेकर दिनभर होती रही चर्चा
कोयलांचल के गिद्दी, रेलीगढृा, गिद्दी सी वाशरी कॉलोनी सहित आसपास के गांवों में संजय प्रसाद के घर पर एनआईए की टीम की छापेमारी को लेकर दिनभर चर्चा होती रही। लोग एक-दूसरे से पूछते रहे कि एनआईए की टीम ने कुरकुट्टा गांव में छापेमारी क्यों की और क्या-क्या मिला। वहीं दूसरी ओर छापेमारी वाले कुरकुट्टा पोटममोढ़ा टोला के लोग इसे लेकर बिलकुल अंजान बने रहे। गिद्दी थाना क्षेत्र में एनआईए टीम की दूसरी छापेमारी है। इसके पहले वर्ष 2019 में 17 अप्रैल को गिद्दी-ए बुधबाजार में मोनाजिर हसन के घर में छापेमारी हुई थी। तब एनआईए दिल्ली की पांच सदस्यीय टीम ने मुंगेर एके 47 हथियार तस्कर मंजर आलम केस के मामले में उसके रिश्तेदार मोनाजिर हसन के गिद्दी स्थित घर में छापेमारी की थी।

लेवी के 1.30 करोड़ मिलने के बाद आगे बढ़ी जांच
जानकारी के मुताबिक, अमन साव के गुर्गे शंकर यादव के भागलपुर, पूर्णिया व मधेपुरा के ठिकानों पर आठ फरवरी को एनआईए न दबिश दी थी। तब भारी मात्रा में हथियारों के साथ लेवी के 1.30 करोड़ रुपये बरामद किए गए थे। लेवी राशि के पैसों की बरामदगी के बाद एनआईए को नए तथ्य मिले थे। इसी आधार पर एनआईए ने कार्रवाई की।