New ways of cyber-shit: Now customers are trapped by fraud sites - साइबर ठगी के नए तरीके: अब अश्लील साइट से फंसा रहे हैं ग्राहक, मॉल में बना रहे वीडियो DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

साइबर ठगी के नए तरीके: अब अश्लील साइट से फंसा रहे हैं ग्राहक, मॉल में बना रहे वीडियो

साइबर अपराधी लोगों के खाते से पैसा उड़ाने का नया तरीका अपना रहे हैं। गूगल पर फर्जी ऑनलाइन शॉपिंग साइट और अश्लील साइट के माध्यम से लोगों तक पहुंच रहे हैं। साइट पर साइबर अपराधी अपना मोबाइल नंबर डाल कर रखते हैं। कोई भी व्यक्ति सही साइट की जगह फर्जी साइट खोलता है तो वह अपराधियों के झांसे में आ जाता है। लोग ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं तो उन्हें सामान भी नहीं मिलता है और उनका पैसा चला जाता है। 
  
अश्लील साइट पर अपराधी लोगों से पहले रजिस्ट्रेशन के नाम पर कम पैसा लेते हैं, इसके बाद उन्हें फंसा देने के नाम पर मोटी रकम वसूलते हैं। इस बात का खुलासा तब हुआ, जब रांची साइबर पुलिस के हाथों चार साइबर अपराधी गिरफ्तार हुए। उन्होंने बताया कि लोग अब बैंक के नाम पर झांसे में नहीं आ रहे हैं। इस वजह से उन्होंने लोगों को ठगने का दूसरा रास्ता अपनाया लिया था। रांची पुलिस के पास ऐसे मामले लगातार पहुंच रहे हैं। फर्जी साइट तैयार कर लोगों का पैसा उड़ाने के आरोप में रांची पुलिस अबतक चार लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है। 

फर्जी ऑनलाइन शॉपिंग साइट तैयार करने वाला सरगना
फर्जी ऑनलाइन शॉपिंग साइट तैयार करने वाला सरगना का नाम सेराज अंसारी है। वह दुमका का रहने वाला है। इस गिरोह की खासियत यह है कि जो व्यक्ति ऑनलाइन शॉपिंग  से सामान खरीदता है और उसे वापस करने का प्रयास करता है, तो उसे झांसे में लिया जाता है। उसके खाते से लाखों रुपए की निकासी कर लेते हैं। 

आर्मी के जवान बनकर कर रहे ठगी 
साइबर अपराधी आर्मी का जवान बनकर ओएलएक्स के माध्यम से लोगों का पैसा उड़ा रहे हैं। ओएलएक्स में किसी गाड़ी के साथ आर्मी की वर्दी पहन कर अपराधी फोटो अपलोड कर रहे हैं।

मॉल में एटीएम का वीडियो बना रहें है ठग 
साइबर अपराधी लोगों का पैसा ठगने के लिए अब मॉल में घूम रहे हैं। कोई व्यक्ति कार्ड से पेमेंट करता है तो ठग उस  व्यक्ति के पीछे जाकर एटीएम का वीडियो बना रहे हैं। रांची पुलिस के पास ऐसे कई वीडियो हैं, जिनमें देखा गया है कि कैसे आसानी से ठग वीडियो तैयार कर लोगों का पिन कोड तक ले लेते हैं। पांच साइबर अपराधियों का चेहरा सामने आया है। उनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस कई इलाकों में छापेमारी कर रही है। 

लोन दिलाने के नाम पर घरों तक पहुंच जा रहे हैं ठग
साइबर अपराधी अब लोगों के खाते से पैसा उड़ाने के लिए लोगों के घर तक पहुंच जा रहे हैं। लोन दिलाने के नाम पर अपराधी दस्तावेज लेने के लिए लोगों के घर जाते हैं और कैंसिल चेक लेकर उनके खाते से लाखों रुपए उड़ा रहे हैं। रांची पुलिस के सामने ऐसे एक दर्जन से अधिक मामले पहुंच चुके हैं। ज्यादातर मामलों में देखा गया है कि प्राइवेट बैंक के नाम पर लोग ठगी के शिकार हो रहे हैं। 

एसएसपी ने तैयार की है स्पेशल टीम
साइबर अपराधियों तक पहुंचने के लिए एसएसपी अनीश गुप्ता से स्पेशल टीम तैयार की है। साइबर थाना में स्पेशल इंस्पेक्टरों की पोस्टिंग की गई है, जो साइबर में एक्सपर्ट हैं।  दो लाख से अधिक ठगी होने वाले मामले में एसएसपी खुद मॉनिटरिंग कर रहे हैं।  

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:New ways of cyber-shit: Now customers are trapped by fraud sites