DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कभी पढ़ाई के घंटे नहीं गिने, जितना समय मिला पढ़ती ही रही: स्टेट टॉपर मनाली 

सपने वो नहीं हैं जो आपने नींद में देखे, सपने वो हैं जो आपको नींद ही न आने दें। भारत के पूर्व राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम के ये कथन इंटरमीडिएट आर्ट्स में स्टेट टॉपर मनाली गुप्ता पर बिलकुल सटीक बैठते हैं। रामगढ़ जिले के पतरातू निवासी मनाली ने कभी पढ़ाई के घंटे नहीं गिने, जब भी मौका मिला पढ़ने बैठ गई। पढ़ाई के दौरान उसे पता नहीं रहता था कि कब कितने बज गए। कला जैसे गंभीर विषय में टॉप करने वाली हंसमुख सी मनाली का सपना है कि वो आगे चलकर आईएएस बनें। 87.4 प्रतिशत अंक लाकर झारखंड की स्टेट टॉपर बनने वाली मनाली आईएएस टॉपर टीना डाबी को अपनी प्रेरणास्त्रोत मानती हैं। 

टीना डाबी की तरह IAS बनना चाहती है JAC 12th आर्ट्स की टॉपर

भूगोल में बीए करना चाहती हैं नंबर भी सबसे ज्यादा इसी में मिले
मनाली ने कहा कि उनका पसंदीदा विषय भूगोल है और वह आगे चलकर भूगोल में स्नातक करना चाहती हैं। यह उनकी इच्छा के प्रति संयोग ही है कि मनाली को मंगलवार झारखंड एकेडमिक कौंसिल की ओर से जारी रिजल्ट में भूगोल में ही सबसे ज्यादा नंबर मिले हैं। उन्हें भूगोल में थ्योरी में 65 और प्रैक्टिकल में 27 के साथ कुल 92 नंबर मिले हैं जो अन्य विषयों में मिले अंकों से सबसे ज्यादा है। मनाली को कुल 437 नंबर मिले हैं जिसमें अग्रेजी में 75, हिन्दी में 89, इतिहास में 90 और अर्थशास्त्र में 91 नंबर मिले हैं।

10वीं में भी आए थे 86 फीसदी अंक
कहते हैं पूत के पांव पालने में ही दिखने लगते हैं। मनाली शुरुआत से भी विलक्षण प्रतिभा की धनी रही हैं। उन्हें 10वीं की परीक्षा में भी 86 फीसदी अंक मिले थे। इस उत्साह को उन्होंने कम नहीं होने दिया और 12वीं की परीक्षा में इससे 1 प्रतिशत ज्यादा अंक लाकर स्टेट टॉपर बनीं। 

इलेक्ट्रिशियन पिता ने बेटी की पढ़ाई के लिए कड़ी मेहनत की
रामगढ़ जिले के पतरातू की रहने वाली मनाली के पिता दीपक कुमार गुप्ता इलेक्ट्रिशियन का काम करते हैं। बेटी की इस उपलब्धि ने पिता का सीना फख्र से चौड़ा कर दिया है। घर में दोपहर से ही मीडियावालों की भीड़ लगी हुई है। दीपक बताते हैं कि वे इलेक्ट्रिशियन काम करते हुए भी बेटी की पढ़ाई के लिए जी-तोड़ मेहनत करते हैं। उनकी तीन बेटियां और एक बेटा है। पत्नी घर का काम संभालती हैं। 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Never counted the hours of study the amount of time spent reading: State Top Manali