ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News झारखंडलोकसभा चुनाव से पहले वजूद कायम करने में जुटे नक्सली, पुलिस अलर्ट

लोकसभा चुनाव से पहले वजूद कायम करने में जुटे नक्सली, पुलिस अलर्ट

फिलहाल भाकपा माओवादियों के सभी सेंट्रल कमेटी मेंबर कोल्हान में कैंप कर रहे हैं। इनमें एक करोड़ के चार इनामी माओवादी मिसिर बेसरा, असीम मंडल, पतिराम माझी उर्फ अनल और प्रयाग माझी शामिल हैं।

लोकसभा चुनाव से पहले वजूद कायम करने में जुटे नक्सली, पुलिस अलर्ट
Aditi Sharmaहिंदुस्तान,जमशेदपुरSat, 02 Dec 2023 09:31 AM
ऐप पर पढ़ें

 लोकसभा चुनाव से पहले एक बार फिर नक्सली अपना खोया वजूद पाने की चाहत में हैं। इसके लिए वे रेड जोन झारखंड, ओडिशा व बंगाल में रीजनल कमेटी को पुनर्जीवित करने की तैयारी कर रहे हैं। इन जगहों पर नक्सलियों के महाजुटान की व्यापक तैयारी चल रही है। इसको लेकर नक्सलियों की कोर कमेटी की बैठक होने की भी संभावना है। इस सूचना के बाद खूंटी, पश्चिमी सिंहभूम और सरायकेला पुलिस को अलर्ट किया गया है।

पहले इस जोन का न सिर्फ झारखंड बल्कि पश्चिम बंगाल और ओडिशा तक बड़ा वजूद था। इनके निर्णय चुनाव को प्रभावित करते थे, लेकिन 24 नवंबर 2011 को नक्सलियों के नेता कोटेश्वर राव उर्फ किशन जी के मारे जाने के बाद और ग्रीन हंट ऑपरेशन के कारण इन इलाकों से नक्सलियों के पांव उखड़ गए। इसके बाद से दोबारा वजूद बनाना इनके लिए मुश्किल हो गया।

कोल्हान में एक करोड़ के इनामी नक्सली कर रहे कैंप

वर्तमान में भाकपा माओवादियों के सभी सेंट्रल कमेटी मेंबर कोल्हान में कैंप कर रहे हैं। इनमें एक करोड़ के चार इनामी माओवादी मिसिर बेसरा, असीम मंडल, पतिराम माझी उर्फ अनल और प्रयाग माझी शामिल हैं। पुलिस के आला अधिकारियों के मुताबिक, माओवादियों के सेकेंड इन कमान प्रशांत बोस और शीला मरांडी की गिरफ्तारी के बाद मिसिर बेसरा और प्रयाग मांझी ने दस्ते के साथ सारंडा और ट्राईजंक्शन को अपना आधार बनाया है। इन इलाकों में संगठन को मजबूत करने की कवायद की जा रही है।
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें