ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंडझारखंड में एनकाउंटर, नक्सलियों के एरिया कमांडर की मौत; इलाके में सर्चिंग जारी

झारखंड में एनकाउंटर, नक्सलियों के एरिया कमांडर की मौत; इलाके में सर्चिंग जारी

सुरक्षाबलों की जवाबी फायरिंग में एक नक्सली की मौत हो गई, जबकि एक नक्सलियों के घायल होने की सूचना मिली है। मुठभेड़ के बाद क्षेत्र में सर्च अभियान चलाया जा रहा है।

झारखंड में एनकाउंटर, नक्सलियों के एरिया कमांडर की मौत; इलाके में सर्चिंग जारी
Devesh Mishraहिन्दुस्तान,चक्रधरपुर(जमशेदपुर)Thu, 23 May 2024 05:21 PM
ऐप पर पढ़ें

झारखंड के पश्चिमी सिंहभूम और खूंटी जिले के सीमावर्ती पोड़ाहाट जंगल के बीहड़ नाबादा के पास गुरुवार को सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई है। इस मुठभेड़ में नक्सलियों का एरिया कमांडर बुधराम मुंडा के मारे जाने की सूचना है। वहीं एनकाउंटर में एक अन्य नक्सली घायल हो गया है। इलाके में लगातार सर्चिंग जारी है।

नक्सलियों के एरिया कमांडर की मौत
जानकारी के मुताबिक, लोकसभा चुनाव 2024 के मद्देनजर कोबरा और झारखंड पुलिस के जवान सर्च अभियान चला रहे थे। इसी दौरान नक्सलियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग कर दी। सुरक्षाबलों की जवाबी फायरिंग में एक नक्सली की मौत हो गई, जबकि एक अन्य नक्सली के घायल होने की सूचना मिली है। मुठभेड़ के बाद क्षेत्र में सर्च अभियान चलाया जा रहा है। मारे गए नक्सली की पहचान बुधराम मुंडा के रूप में हुई है। वह नक्सलियों का एरिया कमांडर था।

यह भी जानिए: दो आरोपियों के खिलाफ NIA ने दाखिल किया आरोप पत्र
वहीं एक दूसरे मामले में एनआईए ने झारखंड में सुरक्षाबलों पर हमले की साजिश का कथित तौर पर हिस्सा रहे भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी- माओवादी (भाकपा- माओवादी) के दो सदस्यों के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किया है। इसमें कहा गया है कि झारखंड के निवासी अघनु गंझू उर्फ ​​अग्नु गंझू और खुदी मुंडा को मंगलवार को रांची की एक विशेष एनआईए अदालत में दाखिल आरोप पत्र में नामजद किया गया है।

एनआईए ने कहा कि आरोप पत्र भारतीय दंड संहिता, शस्त्र अधिनियम, विस्फोटक पदार्थ अधिनियम और गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम के तहत दायर किया गया है। इसी के साथ मामले में अब तक 31 लोगों के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किया जा चुका है। झारखंड पुलिस ने शुरुआत में नौ लोगों के खिलाफ 2022 में आरोप पत्र दायर किया था। जांच अपने हाथ में लेने के बाद एनआईए ने पिछले साल अगस्त और दिसंबर के बीच 20 लोगों के खिलाफ तीन पूरक आरोप पत्र दायर किए थे। बयान में कहा गया है कि प्रतिबंधित संगठन भाकपा-माओवादी के सदस्यों ने अपने शीर्ष कमांडर प्रशांत बोस की गिरफ्तारी का बदला लेने के लिए झारखंड के बॉक्साइट खदान क्षेत्र में सुरक्षा बलों पर हमले की साजिश रची थी।

(पीटीआई इनपुट के साथ)