DA Image
2 जनवरी, 2021|12:02|IST

अगली स्टोरी

शहीद दिवस: झारखंड के आंदोलनकारियों को मिलेगा सम्मान : मुख्यमंत्री

सूबे के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन खरसावां गोलीकांड के वीर शहीदों को श्रद्धांजलि देने खरसावां पहुंचे, जहां उन्होंने शहीदों को नमन करते हुए सपनों का झारखंड बनाने का संकल्प दोहराया। मुख्यमंत्री ने नववर्ष पर राज्य की जनता को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि कहा राज्य के लिए संघर्ष करनेवाले सभी आंदोलनकारियों को सम्मान मिलेगा। सरकार ने कोल्हान के गुवा के शहीदों को जंगल से खोज-खोज कर नौकरी दी, अब खरसावां के शहीदों के आश्रितों को भी सहायता के साथ सम्मान मिलेगा।  

उन्होंने कहा कि झारखंड एक वीरभूमि है। यहां के हर कोने, हर चौक-चौराहों पर राज्य के सपूतों ने हमेशा संघर्ष किया है, जिसमें वे शहीद हो गये। कहा, अभी आंदोलनकारी आयोग बना है, लेकिन कहीं न कहीं आज भी इस राज्य में आंदोलनकारियों का एक लंबी इतिहास फिर से खड़ा है, जहां हर आंदोलनकारी तक पहुंचना जरूरी है। इसे लेकर सरकार कार्य योजना तैयार कर चुकी है, जिसे लेकर वह बहुत जल्द आपके समक्ष होंगे। 

शहीद वेदी की प्रक्रिमा कर शिलाखंड पर चढ़ाया तेल : भारी सुरक्षा के बीच शहीद स्थल पहुंचे मुख्यमंत्री ने सबसे पहले शहीद वेदी की प्ररिक्रमा कर श्रद्धा के फूल चढ़ाये और शहीदों की याद में लगाये गये शिलाखंड पर तेल चढ़ा पूजा की। इस दौरान उनके साथ मंत्री चंपई सोरेन, मंत्री जोबा मांझी, विधायक सुखराव उरांव, दशरथ गागराई, सविता महतो, दीपक बिरूवां, समीर महांती के साथ कई नेता मौजूद थे, जिन्होंने वीर शहीदों को फूल चढ़ा नमन किया।

बुरी शक्तियां आदिवासियों को भटकाने का कर रहीं प्रयास : अर्जुन मुंडा
केंद्रीय जनजातीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने कहा कि जनजातीय समुदाय के लोग शहीद स्थल पर श्रद्धांजलि देने आते हैं। इस शक्ति केंद्र में हमें आगे बढ़ने के लिए नई ऊर्जा मिलती है। लेकिन, बहुत सारी ऐसी शक्तियां हैं, जो भोले-भाले जनजातीय समुदाय, आदिवासी समुदाय को बरगला अलग-अलग रास्ते पर लेकर चलने का प्रयास करती हैं। उन्हें यहां आना चाहिए। इस शक्ति केंद्र में अपनी ऊर्जा को सही ढंग से कैसे उपयोग किया जाए उसकी प्रेरणा लेनी चाहिए। वह वर्ष शहीद दिवस पर आते हैं और यहां से प्रेरणा लेकर जाते हैं। 
प्रत्येक प्रखंड में खुलेंगे एकलव्य मॉडल स्कूल : मुंडा 
मुंडा ने कहा कि पूरे जनजातीय समुदाय के विकास के कार्यों को गति देने के लिए मंत्रालय काम कर रहा है। उन्होंने शिक्षा, स्वास्थ्य व रोजगार जैसे प्रमुख कार्यक्रम को आगे बढ़ाया। इसी के तहत हर प्रखंड में एकलव्य मॉडल स्कूल बनाने की कार्य योजना को गति मिली है और कार्य भी प्रारंभ हो चुका है। मॉडल स्कूल नवोदय विद्यालय के तर्ज पर संचालित होगा, जिसका लाभ जनजातीय समुदाय की बहुत बड़ी संख्या को मिलेगा। वहीं, रोजगार के लिए जगह-जगह प्रशिक्षण केंद्र बनाये जा रहे हैं। कहा, जनजातीय समुदाय के 4500 छात्र-छात्राएं उनके मंत्रालय की तरफ से स्कॉलरशिप कार्यक्रम के तहत पीएचडी कर रहे हैं। इनमें से बहुत से छात्र-छात्राएं विदेशों में भी पढ़ाई कर रहे हैं। 

शहीदों से मिलती है विकास की प्रेरणा : चंपई 
सूबे के परिवहन मंत्री चंपई सोरेन ने कहा कि शहीदों को नमन करने से विकास के लिए प्रेरणा मिलती है। महागठबंधन की सरकार बनी है, जिसके घोषणा पत्र में शहीदों को सम्मान देने की बात है। अब सरकार खरसावां सहित अन्य क्षेत्र के वीर शहीदों का सपना पूरा करने का काम करेगी। उन्होंने नये साल में सबकी खुशहाली की कामना की।

खरसावां झारखंड के शहीदों की धरती है : जोबा
समाज कल्याण, महिला एवं बाल विकास मंत्री जोबा मांझी ने कहा कि खरसावां झारखंड के शहीदों की धरती है। शहीदों के सपने को पूरा कर सरकार उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि देगी। राज्य में अपनी सरकार है। सरकार ने जो वादा किया है, उसे पूरा करेगी। नये साल में सबकी खुशहाली की कामना की।

हेमंत सरकार झारखंड हित में करेगी काम : गागराई
खरसावां विधायक दशरथ गागराई ने कहा कि जनता ने कई उम्मीदों और विश्वास के साथ झारखंड में हेमंत सरकार बनायी है। उन्हें पूरा विश्वास है कि हेमंत सरकार झारखंड हित में काम करेगी। साथ ही झारखंड को विकास की नई दिशा के पथ पर ले जाने का काम करेगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Martyr s Day: Jharkhand agitators will get respect Chief Minister hemant soren