ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ झारखंड प्रेमिका की शिकायत पर जेल गया, बाहर निकलकर शादी की; अब साले ने कर दिया कत्ल

प्रेमिका की शिकायत पर जेल गया, बाहर निकलकर शादी की; अब साले ने कर दिया कत्ल

गिरिडीह बेंगाबाद चपुआडीह के विजय ठाकुर (22 वर्ष) की हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। विजय की हत्या किसी और ने नहीं बल्कि उसके साले अभिषेक महतो ने ही की थी। पुलिस ने चंद घंटे में ही मामला सुलझाया।

 प्रेमिका की शिकायत पर जेल गया, बाहर निकलकर शादी की; अब साले ने कर दिया कत्ल
Suraj Thakurलाइव हिन्दुस्तान,गिरिडीहFri, 25 Nov 2022 10:55 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

गिरिडीह बेंगाबाद चपुआडीह के विजय ठाकुर (22 वर्ष) की हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। विजय की हत्या किसी और ने नहीं बल्कि उसके साले अभिषेक महतो ने ही की थी। फौरी कार्रवाई करते हुए डीएसपी अमर कुमार पांडेय के अगुवाई वाली टीम ने अभिषेक को दबोच लिया। बुधवार की देर रात बरवाअड्डा थाना क्षेत्र के भेलाटांड़ उत्क्रमित मध्य विद्यालय हाजरा टोला के पास रामचंद्र ठाकुर के छोटे पुत्र विजय ठाकुर का लहूलुहान शव मिला था।

पुलिस ने चंद घंटों में मामले का उद्भेदन किया
पुलिस ने चंद घंटों के अंदर मामले का उद्भेदन कर लिया। गुरुवार को रामचंद्र ठाकुर ने बरवाअड्डा थाना में आवेदन देकर विजय की प्रेमिका से पत्नी बनीं भारती के भाई अभिषेक महतो पर हत्या की प्राथमिकी दर्ज कराई। आवेदन में रामचंद्र ने बताया कि विजय ठाकुर और भारती कुमारी में पूर्व से प्रेम प्रसंग चल रहा था और अंतर्जातीय विवाह कोर्ट के माध्यम से हुआ था।

किराए का मकान लेकर रहते थे पति-पत्नी
इसके बाद भारती और विजय दोनों गिरिडीह बेंगाबाद थाना क्षेत्र के चपुआडीह में रह रहे थे। भारती की ट्रेनिंग के कारण वे लोग चपुआडीह से 20 नवंबर को धनबाद आ गए। धनबाद में दोनों ने राहरगोड़ा धैया में किराए का मकान लेकर रह रहे थे। बुधवार रात राहरगोड़ा धैया से घर में बने चिकेन लेकर विजय अपने ससुर को पहुंचाने गया था। ससुर को चिकेन देकर विजय अपने किराए के मकान राहरगोडा लौटने के दौरान अभिषेक ने विजय का पीछा किया और उत्क्रमित मध्य विद्यालय भेलाटांड़ हाजरा टोला के समीप अचानक विजय के कनपटी में लाठी से हमला कर दिया।


लाठी के प्रहार से विजय गंभीर रूप से घायल हो गया और जमीन पर गिर पड़ा। विजय के जमीन में गिरने के बाद भी अभिषेक हमला करते रहा। इसके बाद अभिषेक वहां से भाग गया।

पिता ने बताया कि घटना की सूचना उनकी बहू भारती ने अपने मोबाइल से अपनी सास उर्मिला देवी को करीब रात 10 बजे दी। सूचना पर हम सभी परिजन गुरुवार अलसुबह एसएनएमएमसीएच धनबाद पहुंचे, जहां स्ट्रेचर में उनका बेटा मृत पड़ा पाया।

पत्नी की शिकायत पर जेल भी गया था मृतक
पत्नी की शिकायत पर आठ माह जेल में रहा था विजय रामचंद्र ठाकुर ने बताया कि भारती कुमारी ने गिरिडीह में केस किया था। केस में विजय ठाकुर आठ महीने के लिए जेल गया था। शादी करने के समझौते के बाद वह जेल से बाहर निकला था। चर्चा है कि मृतक साइबर क्राइम से भी जुड़ा था। हालांकि विजय के साइबर अपराध से जुड़े होने की पुष्टि नहीं हुई है। धनबाद आने के दौरान भारती से विजय ठाकुर की दोस्ती हुई और दोस्ती प्यार में बदल गई।