DA Image
12 जुलाई, 2020|8:32|IST

अगली स्टोरी

लॉकडाउन : बेटी के रिसेप्शन में शामिल होने आए थे 55 लोग, 30 दिन से फंसे हैं उसके ससुराल में

बारात के बाद लड़की की ससुराल में समधियाना निभाने शायद ही कोई कभी ऐसे गया होगा। 30 दिन से 55 लोग बेटी की प्रीतिभोज में आकर ऐसे फंसे कि अब उनकी विकट स्थिति हो गई है। सभी के सामने भोजन का संकट उत्पन्न हो गया है। 

मामला सोनारी के परदेसी पाड़ा का है। यहां से सुमित कुमार की बारात ओडिशा के बालांगीर गयी थी। 19 मार्च को वहां उनकी शादी गुरुवारी से हुई और 22 मार्च के रिसेप्शन के लिए बालांगीर से 55 लोग सोनारी आए। उसके बाद ट्रेनें चलनी बंद हो गयी। तब से ये लोग यहीं फंसे हुए हैं।
सुमित के पिता का नाम हरि कुमार है। पिता-पुत्र दोनों ही दो अलग-अलग चिकित्सकों की कार चलाते हैं। सुमित दो कमरों के किराए के कमान में रहते हैं। घर के उपर शादी के वक्त जो टेन्ट बना था, वह अब तक है क्योंकि उसमें मेहमान रह रहे हैं।  इसके अलावा टेन्ट हाउस का बर्तन, कुर्सी, गद्दा सब कुछ वैसे ही है। इसके किराये की मार अलग है। दोनों पिता-पुत्र ने प्रशासन से गुजारिश की है कि उनके यहां ठहरे मेहमानों को ओडिशा पहुंचाने की व्यवस्था की जाए।  
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Lockdown 55 people came to attend daughter receptionin jamshedpur trapped in sasural for 30 day one month jharkhand